For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

मोदी न पहले ओबीसी थे, न आज हैं

10:30 AM Feb 11, 2024 IST
मोदी न पहले ओबीसी थे  न आज हैं
गुरुग्राम में शनिवार को कांग्रेस ओबीसी सैल के राष्ट्रीय अध्यक्ष कैप्टन अजय सिंह यादव पत्रकार सम्मेलन को संबोधित करते हुए। -हप्र
Advertisement

गुरुग्राम, 10 फरवरी (हप्र)
कांग्रेस ओबीसी सेल के राष्ट्रीय अध्यक्ष कैप्टन अजय यादव ने कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र खुद को ओबीसी बताते हैं लेकिन मोदी समाज न पहले ओबीसी था और न आज हैं। अपने कार्यालय पर प्रेसवार्ता करते हुए कैप्टन अजय यादव ने बताया कि एक जनवरी, 2002 को गुजरात सरकार द्वारा आरक्षण के लिए जोड़ी गई नयी जातियों के नोटिफिकेशन में कहीं भी मोदी समाज का जिक्र नहीं है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी जाति के नाम पर देश को गुमराह कर रहे हैं। मोदी न पहले ओबीसी थे और न आज हैं। भाजपा बार-बार झूठ फैलाती है, लेकिन मोदी जन्म से ओबीसी नहीं हैं, यह सच्चाई है। कैप्टन अजय सिंह यादव ने कहा इस नोटिफिकेशन की तारीख 1 जनवरी, 2002 है, जब गुजरात के मुख्यमंत्री स्वयं नरेंद्र मोदी थे। नोटिफिकेशन के अनुसार नई जातियां जोड़ी गईं, उनमें घांची मुस्लिम, तेली, मोढ़ घांची, तेली साहू, तेली राठौर थीं। अगर 1999 में ये जातियां जोड़ी गईं थीं, तो गुजरात के मुख्यमंत्री ने एक जनवरी, 2002 को ये नोटिफिकेशन क्यों निकाला। नोटिफिकेशन में कहीं भी मोदी समाज का जिक्र नहीं है। भगवद्गोमण्डल (गुजराती एंसाइक्लोपीडिया) के हिसाब से भी मोदी समाज पिछड़ी जाति में नहीं आता है। कैप्टन अजय यादव बोले मोदी न घांची हैं, न तेली हैं और न ही पिछड़ी जाति से हैं। पीएम मोदी अपनी जाति के नाम पर देश को गुमराह कर रहे हैं।
प्रेस कॉन्फ्रेंस में कैप्टन अजय यादव के साथ पूर्व चेयरमेन कुलदीप कटारिया, ओबीसी सैल के राष्ट्रीय कोऑर्डिनेटर लाल सिंह यादव, गुड़गांव उद्योग एसोसिएशन के अध्यक्ष प्रवीण यादव, सुमित चकरपुर मौजूद रहे।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
×