For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

आपकी राय

08:46 AM Feb 13, 2024 IST
आपकी राय
Advertisement

राजनीतिक निहितार्थ

दस फरवरी के दैनिक ट्रिब्यून का संपादकीय ‘कितने भारत रत्न’ सरकार द्वारा पांच लोगों को सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न’ नवाजे जाने पर विमर्श करने वाला था। सवाल उठता है कि यह सर्वोच्च सम्मान पहले क्यों नहीं दिए गए और जिन लोगों को दिए गए वो भी चुनावों को ध्यान में रखते हुए या फिर विपक्ष को कमजोर दिखाने के लिए दिए गए। चौधरी चरण सिंह को भी भारत रत्न इसलिए दिया गया ताकि जाट वोटों को अपनी तरफ किया जा सके। कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न दिया जाना अति दलित लोगों के वोटों को प्राप्त करने के लिए है।
शामलाल कौशल, रोहतक

मालदीव सोचे

मालदीव को पड़ोसी देशों से रिश्ते मधुर बनाये रखने चाहिए। इसका सारा राजस्व आगंतुकों पर निर्भर करता है। वास्तव में यह देश भारतीय आगंतुकों से बड़ी संख्या में राजस्व एकत्र करता है। भारत के साथ मालदीव के हालिया रवैये से उसकी जीडीपी और आर्थिक व्यवस्था पर बुरा असर पड़ेगा। इसलिए मोहम्मद मुइज्जू को सोच-समझकर कदम उठाना चाहिए।
तौकीर रहमानी, मुंबई

Advertisement

संपादकीय पृष्ठ पर प्रकाशनार्थ लेख इस ईमेल पर भेजें :- dtmagzine@tribunemail.com

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
×