For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

आपकी राय

07:33 AM Nov 08, 2023 IST
आपकी राय
Advertisement

रफ्तार के हादसे

चार नवंबर के दैनिक ट्रिब्यून का संपादकीय ‘रफ्तार के हादसे’ वाहनों द्वारा सड़कों पर हाेने वाली दुर्घटनाओं का ब्योरा देने वाला था। अफसोस की बात यह है कि हाईवे तथा चौड़ी सड़कों के बनने से वाहन चालक अनियंत्रित स्पीड से वाहन चलाते हैं। वैसे दुर्घटनाओं का मुख्य कारण धुंध, तेज स्पीड, एक दूसरे से आगे निकलने की होड़, हेलमेट, सीट बेल्ट का न लगाना, सड़कों पर खड्डों का होना, हाईवे पर चिकित्सा सुविधाओं का न होना आदि कारण जिम्मेदार हैं। अगर ट्रैफिक नियमों का सही से पालन किया जाए तो यह दुर्घटनाएं कम हो सकती हैं।
शामलाल कौशल, रोहतक

रोका जाए युद्ध

भोजन, पानी, दवा और ईंधन की भारी कमी के साथ-साथ फ़लस्तीनी नागरिकों की बढ़ती हताहतों की संख्या ने वैश्विक नेताओं द्वारा लड़ाई को रोकने के प्रयास तेज़ कर दिये हैं। इस्राइल वैश्विक नेताओं के आह्वान को नजरअंदाज कर रहा है। अब तक महिलाओं सहित हजारों हमास के लोगों का सफाया हो चुका है। इस्राइल ने युद्ध रोकने के आग्रह को खारिज कर दिया हैै। विश्वस्तर पर युद्ध को रोकने के लिए हरसंभव प्रयास होने चाहिए।
मोहम्मद तौकीर, पश्चिमी चंपारण

Advertisement

प्रदूषण संकट

पंजाब-हरियाणा के बढ़ते प्रदूषण का चंडीगढ़ तक असर हो रहा है। प्रदूषण का मुख्य कारण पंजाब-हरियाणा में जलाई जा रही पराली है। रविवार को चंडीगढ़ में एयर एक्यूआई 200 पॉइंट से ऊपर पहुंच गया है। नवंबर माह के पहले दिन से ही शहर की हवा खराब स्थिति में चल रही है। मौसम को देखते हुए अगले कुछ दिनों में एयर पॉल्यूशन की समस्या चंडीगढ़ में ज्यादा हो सकती है। अगर इसी तरह से एक्यूआई लगातार बढ़ता रहा तो लोगों को कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। चंडीगढ़ पॉल्यूशन कंट्रोल कमेटी को इस ओर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है।
गायत्री, पीयू, चंडीगढ़

संपादकीय पृष्ठ पर प्रकाशनार्थ लेख इस ईमेल पर भेजें :- dtmagzine@tribunemail.com

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement
×