For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

क्या बलात्कार या हत्या को भी उचित ठहराएंगे : कंगना

07:20 AM Jun 09, 2024 IST
क्या बलात्कार या हत्या को भी उचित ठहराएंगे   कंगना
Advertisement

नयी दिल्ली, 8 जून (एजेंसी)
अभिनेत्री से नेता बनीं कंगना रणौत ने शनिवार को उन लोगों की आलोचना की जो उस सीआईएसएफ महिला कांस्टेबल की प्रशंसा कर रहे हैं जिसने कथित तौर पर उन्हें थप्पड़ मारा था। उन्होंने पूछा कि क्या वे ‘बलात्कार या हत्या’ को भी उचित ठहराते हैं।
रणौत (37) ने ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा, ‘क्या आप अपराधियों के साथ मिलकर देश के सभी कानूनों का उल्लंघन करते हुए अपराध करने के लिए प्रबल भावनात्मक आवेग से जुड़े हैं। याद रखें कि यदि आप किसी की निजता को भंग करने, उनकी अनुमति के बिना उनके शरीर को छूने और उन पर हमला करने से सहमत हैं, तो कहीं न कहीं आप बलात्कार या हत्या से भी सहमत हैं, आपको अपनी मनोवैज्ञानिक आपराधिक प्रवृत्तियों की गहराई से जांच करनी चाहिए।’ बताया जा रहा है कि आरोपी महिला कांस्टेबल किसान विरोध प्रदर्शन पर अभिनेत्री के रुख से नाराज थी। आरोपी सीआईएसएफ कर्मी कुलविंदर कौर को निलंबित कर दिया गया है और जांच शुरू कर दी गई है। अपने नवीनतम पोस्ट में रणौत ने लोगों को ‘योग और ध्यान अपनाने की सलाह देते हुए कहा कि ऐसा नहीं करने पर जीवन एक कड़वा और बोझिल अनुभव बन जाएगा।’ अभिनेत्री ने कहा, ‘कृपया इतना द्वेष, घृणा और ईर्ष्या मत रखिए, अपने आप को मुक्त रखिये।’ उधर, चंडीगढ़ में पंजाब किसान कांग्रेस के प्रमुख किरणजीत सिंह शनिवार को रणौत को कथित तौर पर थप्पड़ मारने वाली सीआईएसएफ महिला कांस्टेबल के समर्थन में सामने आए और मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की। उन्होंने इस घटना पर चुप्पी साधने के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान की भी आलोचना की।
‘...फिर तो कोई सुरक्षित नहीं’
अभिनेत्री शबाना आजमी ने ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में लिखा, ‘मुझे कंगना रणौत से कुछ लगाव नहीं है, लेकिन मैं ‘थप्पड़’ का जश्न मनाने वाले इस समूह में खुद को शामिल नहीं कर सकती। अगर सुरक्षाकर्मी कानून को अपने हाथ में लेना शुरू कर देंगे तो हममें से कोई भी सुरक्षित नहीं रह सकता।’ आजमी के पति और अनुभवी पटकथा लेखक व गीतकार जावेद अख्तर ने रणौत के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर किया है। रणौत ने जावेद अख्तर पर धमकी देने का आरोप लगाया था।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
×