For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

इस बार ज्यादा आयेगा पीने के पानी का बिल

08:04 AM Apr 02, 2024 IST
इस बार ज्यादा आयेगा पीने के पानी का बिल
Advertisement

मनीमाजरा (चंडीगढ़), 1 अप्रैल (हप्र)
सोमवार से शहर में पानी के दामों में 5 फीसदी की बढ़ोतरी कर दी गई। अब इस महीने से पानी का टैरिफ बढ़ने से पानी का बिल बढ़कर आएगा । पानी के टैरिफ की हर स्लैब में यह बढ़ोतरी हुई है। जानकारी के मुताबिक अभी 15 किलोलीटर तक पानी पर 3.15 रुपए बिल आता है। 16 से 30 किलोलीटर पानी पर 6.30 रुपए के हिसाब से और 31 से 60 किलोलीटर पर 10.50 रुपए के हिसाब से पानी का बिल भेजा जाता है। लेकिन अब यह पांच प्रतिशत बढ़ जाएगा।
वार्षिक बढ़ोतरी नियम के कारण 1 अप्रैल से गारबेज कलेक्शन चार्ज में भी सभी कैटेगरी में 5 फीसदी तक की बढ़ोतरी होगी। दो मरला तक के घरों का गारबेज कलेक्शन चार्ज 52.5 से बढ़कर 55.12 रुपए हो जाएगा। दो मरला से 10 मरला तक के घरों का चार्ज 105 से बढ़कर 110.25 रुपए, 10 मरला से एक कनाल तक के घरों के लिए 210 की जगह 220.5 बिल अदा करना पड़ेगा। इसी तरह से एक कनाल से दो कैनाल तक के घरों का खर्च अब 262.5 की जगह 275.6 रुपए हो जाएगा। दो कनाल से बड़े घरों के लिए यह बिल 367.5 की जगह 385.8 रुपए होगा।

मेयर ने टैरिफ न बढ़ाने की की थी मांग

चंडीगढ़ के मेयर कुलदीप कुमार ने गृह सचिव नितिन कुमार को पत्र लिखकर यह टैरिफ न बढ़ाने की मांग की थी। उन्होंने कहा था कि सदन में 20000 लीटर पानी फ्री देने का प्रस्ताव पास कर दिया गया है। इसलिए 1 अप्रैल से पानी के चार्ज न बढ़ाए जाएं। हालांकि सदन में पास प्रस्ताव पर अभी तक कोई फैसला नहीं हो पाया है।

Advertisement

बंसल ने भाजपा को लिया आड़े हाथ

चंडीगढ़ नगर निगम में पहली अप्रैल से पानी और गारबेज कलेक्शन चार्ज बढ़ गया है। पानी और गारबेज कलेक्शन चार्ज में पांच फीसदी की बढ़ोतरी की गई है। इस पर चंडीगढ़ के पूर्व सांसद व वरिष्ठ कांग्रेस नेता पवन कुमार बंसल ने भाजपा को जनविरोधी करार दिया है। बंसल ने कहा कि भाजपा के राज में पहले ही जनता महंगाई से त्रस्त है। ऊपर से पानी जैसी मूलभूत ज़रूरत भी इस दौर में महंगी कर दी गई है। बंसल ने कहा कि भाजपा की यही असलियत है, जो गरीबों के मुंह से निवाला छीन कर मोदी का नाम चमकाने में लगी है। बंसल ने कहा कि भाजपा चंडीगढ़ में पानी की सुगम सप्लाई तो दे नहीं सकी, 38 प्रतिशत पानी यूं ही बर्बाद हो जाता है। ऊपरी मंज़िलों पर रहने वाले लोगों तक पानी का प्रेशर पहुँचता ही नहीं, लेकिन ये सब मुश्किलें दूर करने की जगह भाजपा ने सिर्फ जनता पर महंगे पानी का बोझ ही डाला है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
×