For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

करनाल में ट्रैफिक व्यवस्था पर ‘तीसरी आंख’

07:56 AM Jun 26, 2024 IST
करनाल में ट्रैफिक व्यवस्था पर ‘तीसरी आंख’
करनाल में मंगलवार को आईसीसीसी प्रोजेक्ट का निरीक्षण करते उपायुक्त उत्तम सिंह। -हप्र
Advertisement

करनाल, 25 जून (हप्र)
शहर की ट्रैफिक व्यवस्था पर नियंत्रण रखने के लिए आईसीसीसी प्रोजेक्ट एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। इसके तहत शहर के हर चौराहे और मुख्य मार्ग पर ट्रैफिक व्यवस्था पर सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से नजर रखी जा रही है। अहम पहलू है कि शहर के 29 प्रमुख चौकों पर सीसीटीवी के माध्यम से हर पल की गतिविधि को भी देखा जा सकता है। प्रोजेक्ट में समस्त शहर कवर होगा। ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वालों को फोटो युक्त चालान की होम डिलीवरी होगी। इस दौरान सीईओ के निर्देश पर ऑपरेटर ने वीडियो वाल पर 360 डिग्री पर घूमने वाले पी.टी.जैड कैमरे लगे हैं। जूमिंग से एक चौक पर खड़ी कार की नम्बर प्लेट पर स्पष्ट नम्बर दिखेगा। इन कैमरो में फिक्स बॉक्स, बुलेट कैमरे, रेड लाइट वायलेशन डिटेक्शन तथा स्पीड वायलेशन डिटेक्शन सिस्टम कैमरे शामिल हैं।
उपायुक्त उत्तम सिंह ने मंगलवार को सेक्टर-12 स्थित आई.सी.सी. सेंटर का औचक निरीक्षण किया। इस निरीक्षण के दौरान संंबंधित अधिकारियों से शहर की ट्रैफिक मॉनीटरिंग संबंधित पूरी जानकारी ली है। इस दौरान पुलिस और आईसीसीसी अधिकारियों के बीच आपसी तालमेल के लिए एक कॉमन टेलिफोन नम्बर भी निर्धारित किया है। इस निरीक्षण के दौरान उपायुक्त ने कुछ खामियां दूर करने के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए हैं। उपायुक्त ने आई.सी.सी. सेंटर में लगी वीडियो वाल पर इस प्रोजेक्ट में शामिल विभिन्न घटकों के फंक्शन को देखा। चौक-चौराहों पर लगे कैमरे और ट्रैफिक लाइट कैसे काम कर रही हैं, इसके लाइव देखने में उन्होंने काफी रुचि दिखाई।

27 वेरिएबल मैसेज डिस्प्ले बोर्ड चालू

आई.सी.सी.सी. के मुख्य प्रबंधक गौरव तिवारी ने बताया कि यह प्रोजेक्ट स्मार्ट सिटी के महत्वपूर्ण प्रोजेक्टों में से एक है, जो शहर की ट्रैफिक व्यवस्था और उसके नियंत्रण से जुड़ा है। इस प्रोजेक्ट के 6 फील्ड कम्पोनेंट्स यानी घटक हैं। इनमें वी.एम.डी. यानी वेरिएबल मैसेज डिस्प्ले बोर्ड 36 हैं, जिनमें से अब तक 31 लगाए जा चुके हैं और 27
चालू हो गए हैं।

Advertisement

32 जगहों पर इमरजेंसी कॉल बाॅक्स

गौरव तिवारी ने कहा कि सी.सी.टी.वी. की इंस्टालेशन 29 चौक-चौराहों पर हो चुकी है, जबकि 128 जंक्शन पर पब्लिक एड्रेस सिस्टम लग चुका है। इसी प्रकार 35 में से 32 जगहों पर इमरजेंसी कॉल बॉक्स लगाए जा चुके हैं और 2 एंवायरमेंटल सेंटर लगाए गए हैं। इसके अतिरिक्त ऑटोमेटिक ट्रैफिक कंट्रोल सिस्टम 28 जगहों पर कम्पलीट कर दिया है। एटीसीएस के 2 चौराहे जिनमें सेक्टर-12 टी-प्वाइंट और शहीद मदन लाल ढींगड़ा चौक लाइव कर दिए हैं।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
×