For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

नये ब्रांड की धार से गुलजार बाजार

08:58 AM Jun 25, 2024 IST
नये ब्रांड की धार से गुलजार बाजार
Advertisement

आलोक पुराणिक

बाजार पुराना होता है पर खेल नये हो जाते हैं। टी-20 क्रिकेट का विश्व कप चल रहा है, आस्ट्रेलिया जैसी मजबूत टीम को अफगानिस्तान जैसी नयी टीम हरा देती है। पाकिस्तान जैसी पुरानी टीम को अमेरिका जैसी नयी टीम हरा देती है। मतलब कहीं न कहीं, क्रिकेट का हाल पॉलिटिक्स जैसा है, कोई भी किसी को हरा सकता है। क्रिकेट सिर्फ खेल नहीं है, कारोबार भी है। अरबों रुपये लेते हैं क्रिकेटर यह बताने के लिए कि कौन-सी कार या बाइक पर चलकर उनमें छक्के लगाने की ताकत आ जाती है। या कौन कोल्ड ड्रिंक पीने से वह एनर्जी आ जाती है।
अब समय बदल गया है। कोल्ड ड्रिंक कंपनियां अब पाकिस्तानी क्रिकेटरों से कह सकती हैं कि चलिए अपना कोल्ड ड्रिंक थमा दीजिये अफगानिस्तानी क्रिकेटरों को। पाकिस्तानी क्रिकेटरों को तो तमाम कंपनियां यह कह सकती हैं कि खबरदार हमारे प्राॅडक्ट के साथ दिख मत जाना वरना हम खंडन कर देंगे कि यह हमारी कोल्ड ड्रिंक पीकर नहीं हारे हैं।
अफगानिस्तानी क्रिकेटरों को अब बहुत कुछ बेचने को मिल सकता है। पाकिस्तानी क्रिकेटरों को अब सेल्समैनशिप की नौकरी से बाहर कर दिया जायेगा। बाजार जीतने वाले के साथ होता है। हारने वाले को सिर्फ सिंपैथी मिलती है। कुल मिलाकर बाजार वाला खेल क्रिकेट में हो गया है। अमेरिका और अफगानिस्तान क्रिकेट बाजार में नये ब्रांड हैं, पुराने ब्रांड इनसे परेशान हो रहे हैं। पर कारोबार तो कारोबार है, कोई परेशान होगा, कोई मजे करेगा। अफगानिस्तान क्रिकेट के धंधे का नया कारोबारी है। नया कारोबारी बहुत मेहनत करता है कारोबार जमाने के लिए। पुराने कारोबार वाले थोड़े-से तसल्ली में रहते हैं कि चल रहा है पुराना कारोबार है चलता रहेगा। पर इतिहास बताता है कि पुराने की दुकान बंद ही इस चक्कर में हो जाती है कि पुराने मस्त मगन रहते हैं।
अमेरिका वाले तमाम तरह के खेल खेलते हैं, क्रिकेट अब उनका नया गेम है। अमेरिका एशिया में असर जमाने और बढ़ाने के चक्कर में लगा हुआ है। उसे समझ में आ गया है कि एशिया के महत्वपूर्ण देश भारत, पाकिस्तान, बंगलादेश, श्रीलंका, अफगानिस्तान में क्रिकेट जमकर खेला जाता है, तो अमेरिका को भी क्रिकेट खेलना चाहिए। क्रिकेट बहुत कमाल गेम है, जो शुरू तो ब्रिटेन से हुआ था, पर अब इसकी पॉवर एशिया में है। इंडिया की टीम क्रिकेट में टॉप मानी जाती है और इंडिया के क्रिकेट बोर्ड की अमीरी के चर्चे दुनिया में होते हैं। इंडिया के क्रिकेट बोर्ड को दुनिया में अमीरतम बोर्ड माना जाता है। जिसके पास पैसे हैं, वह खुद-ब-खुद पॉवर हो जाता है। सऊदी अरब के पास बहुत पैसे हैं, वह भी क्रिकेट में रुचि दिखा रहा है।
दिक्कत पाकिस्तान जैसे गरीब देशों की है, जिनके पास पैसे तो कभी थे ही नहीं, अब क्रिकेट भी नहीं बचा पाकिस्तान के पास।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement
×