For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

‘बच्चों के बस्ते का बोझ, मानसिक तनाव किया जाए कम’

08:54 AM Jun 25, 2024 IST
‘बच्चों के बस्ते का बोझ  मानसिक तनाव किया जाए कम’
गुरुग्राम में सोमवार को नयी शिक्षा नीति पर आयोजित सेमिनार को संबोधित करते सूर्या फाउंडेशन के अध्यक्ष पदमश्री जयप्रकाश अग्रवाल। -हप्र
Advertisement

गुरुग्राम, 24 जून (हप्र)
सूर्या फाउंडेशन द्वारा नयी राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 पर एक मंथन शिविर का आयोजन किया गया, जिसका उद्देश्य बच्चों के बस्ते का वजन कम करना और शिक्षा को हर वर्ग तक कैसे पहुंचाएं, इस पर चर्चा करना था। सूर्या फाउंडेशन के चेयरमैन पद्मश्री जयप्रकाश अग्रवाल ने इस अवसर पर कहा कि बच्चों के बस्ते का बोझ और मानसिक तनाव कम किया जाए। उनकी प्रेरणा से सूर्या फाउंडेशन द्वारा चलाए जा रहे ‘शिक्षा थिंक टैंक’ के माध्यम से सभी विषयों को समेकित कर ‘एक कक्षा-एक किताब ऑल-इन-वन’, सूर्य भारती पुस्तकें बनाई गई। प्रो. एचएल शर्मा की अगुवाई में देश के जाने-माने शिक्षाविदों-प्रो. चंद्रभूषण, गंगादत्त शर्मा, प्रभाकर द्विवेदी, शांति स्वरूप रस्तोगी, टीआर गुप्ता, डॉ. गुज्जरमल वर्मा, प्रो. डीपी नय्यर जैसे अनेक विषय विशेषज्ञों ने कई वर्षों की कठोर मेहनत करके ये पुस्तकें बनाई। इन पुस्तकों में शिक्षण की सभी बातों का ध्यान रखा गया है। खेल-खेल में पढ़ाई कैसे कराई जा सकती है, इस पर विशेष बल दिया गया है।
प्रो. एचएल शर्मा ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के निदेशानुसार इन पुस्तकों में सभी विषयों एकीकरण किया गया है। इस अवसर पर अनेक कालेजों के प्रोफेसर और भारत भारती, विद्या भारती, दिल्ली विवि, जवाहरलाल नेहरू विवि, महर्षि दधीचि देह दान संस्थान, सेवा भारती, शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास, सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता एवं एकल विद्यालय समेत कई शिक्षण संस्थाओं से आए शिक्षाविद और सूर्या फाउंडेशन के कार्यकर्ता शामिल हुए।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
×