For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

‘डिजिटल टेक्नोलॉजी से जुड़ें विद्यार्थी और शोधार्थी’

10:46 AM Apr 02, 2024 IST
‘डिजिटल टेक्नोलॉजी से जुड़ें विद्यार्थी और शोधार्थी’
रोहतक स्थित महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय में अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी का दीप प्रज्वलित कर शुभारंभ करते कुलपति प्रो. राजबीर सिंह एवं अन्य। -हप्र
Advertisement

रोहतक, 1 अप्रैल (हप्र)
महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय में ‘फास्टरिंग ग्लोबल कोलाबोरेशन इन हायर एजुकेशन’ पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. राजबीर सिंह ने कहा कि वैश्विक स्तर पर शोध सहभागिता, ज्ञान साझेदारी तथा क्रिएटिव एप्रोच समय की जरूरत है। विश्वविद्यालय वैश्विक पहचान बनाने की दृष्टि से कार्य कर रहा है। वैज्ञानिक शोध सहभागिता मानव कल्याण के लिए जरूरी है।
अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन में मुख्य अतिथि उद्योगपति राजेश जैन ने कहा कि आज जरूरत है कि विद्यार्थी तथा शोधार्थी डिजिटल टेक्नोलॉजी से जुड़ें, इनोवेटिव माइंड सेट विकसित करें तथा टेक्नोलॉजी का उत्कृष्ट ज्ञान लेकर वैश्विक पहचान बनायें। इस अवसर पर ग्लोबल हरियाणा, यूएसए के अध्यक्ष बालिंदर सिंह ने कहा कि आज के युग में ग्लोबल कनेक्टिविटी बहुत जरूरी है। यह सम्मेलन वैश्विक कनेक्टिविटी प्रदान करेगा। प्रो. पवन बुधवार ने कहा कि इस समय भारत पूरे विश्व में अपनी प्रभावी उपस्थिति दर्ज करा रहा है। यूनिवर्सिटी ऑफ मैसाचुयसेट्स से आये प्रो. ओपी धनखड़ ने कहा कि वैश्विक शिक्षण संस्थानों के साथ फैकल्टी-स्टूडेंट एक्सचेंज प्रोग्राम तथा शोध सहभागिता के लिए एमओयू की जरूरत है।

‘पढ़ाई के साथ बच्चों से करवायें घरेलू कार्य’
बातचीत में ग्लोबल हरियाणा, यूएसए के अध्यक्ष बालिंदर सिंह ने कहा कि बाहर जाने के लिए दो बेसिक चीज हैं कि आपको खाना बनाना आना चाहिए और ड्राइविंग आनी चाहिए। विदेश में जाने वाली लड़कियों को न तो खाना बनाना आता है और न ही गाड़ी चलाना जिससे उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ता है। उन्होंने अभिभावकों से अपील की कि बच्चों को सक्षम बनाना है तो पढ़ाई के साथ-साथ उनसे घरेलू कार्य भी करवाएं।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement
×