For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

शंभू बार्डर पर आंसू गैस प्रयोग से मची भगदड़

10:50 AM Feb 13, 2024 IST
शंभू बार्डर पर आंसू गैस प्रयोग से मची भगदड़
डेराबस्सी में सोमवार को जाम में फंसे वाहन।-दैनिक ट्रिब्यून
Advertisement

जितेंद्र अग्रवाल/हप्र
अम्बाला शहर, 12 फरवरी
किसानों के कल के दिल्ली कूच से निपटने के लिए अम्बाला में शंभू बार्डर पर जीटी रोड को पूरी तरह सील कर दिए जाने के बाद अब अम्बाला-चंडीगढ़ रोड को सद्दोपुर के पास बेरीकेड्स लगाकर पूरी तरह से सील कर दिया गया। इसके अलावा नारायणगढ़ रोड को मंडौर व हिसार रोड को बलाना के पास बेरीकेड्स लगाकर सील कर दिया गया है। इससे हर ओर केवल जाम ही जाम की स्थिति उत्पन्न हो गई है। सुरक्षा के लिए किए जा रहे इतने इंतजाम देखकर आम नागरिक किसी बड़ी अनहोनी की आशंका से भयभीत होकर रह गए हैं। जानकारी के अनुसार आज बाद दोपहर शंभू बार्डर पर नारेबाजी कर रहे कुछ किसान जब चेतावनी के बाद भी वहां से नहीं हटे तो उन पर आंसू गैस का प्रयोग करना पड़ा जिससे वहां भगदड़ मच गई और राहगीर इधरउधर भागने लगे। गोले छोड़े जाने से करीब 3 मिनट पहले अनाउसमेंट करके सभी को वहां से हट जाने की चेतावनी दे दी गई थी। हालांकि कुछ लोग इसे मॉक ड्रिल का हिस्सा बता रहे हैं। उधर, अम्बाला-चंडीगढ़ हाइवे को पूरी तरह से शंभू बार्डर की तरह भारी भरकम बेरीकेड्स से बंद कर दिया गया है और उनमें कंकरीट भर दिया गया है। यहां आईटीबीपी, बीएसएफ और हरियाणा पुलिस के जवान मुस्तैदी से तैनात हैं। इसको सील कर दिए जाने से रोजाना नौकरी या अन्य कामों के लिए चंडीगढ़ आने जाने वाले हजारों लोग बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं। यही नहीं आपात परिस्थितियों में पीजीआई या सेक्टर-32 के सरकारी अस्पताल में जाने वाले मरीजों को लेकर जाने वाली एंबुलेंसों को दिक्कत हो रही है। चंडीगढ़ आने जाने के लिए प्रमुख रूप से इसी मार्ग का प्रयोग किया जाता है।
फिलहाल एंबुलेंसों या अन्य बीमार लोगों के तुरंत निकलने की कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं की गई। आज भी मरीज को चंडीगढ़ ले जा रही एक एंबुलेंस चंडीगढ़ रोड के जाम में फंस गई जिसे काफी मशक्कत के बाद निकाला गया। इसी प्रकार नारायणगढ़ रोड पर मंडौर के पास और पुराने कैथल रोड को गांव बलाना के पास सील कर दिया गया है।

13 जगहों पर पुलिस के नाके

किसान आंदोलन में कुछ शरारती लोग शामिल होकर कानून व्यवस्था को बिगाड़ सकते हैं। हरियाणा व पंजाब सरकार द्वारा किसी भी तरह आंदोलन किये जाने की परमिशन नहीं दी गई है। धारा 144 के आदेश पहले से ही जारी कर दिये गये हैं और आमजन को भी यह अवगत करवाने का काम किया गया है कि वह इस तरह के आंदोलन में शामिल न हों। यदि किसी की इसमें संलिप्ता पाई गई तो नियमानुसार कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। यह जानकारी आज उपायुक्त डॉ. शालीन व पुलिस अधीक्षक जशनदीप सिंह रंधावा ने आज पुलिस प्रशिक्षण केंद्र अम्बाला शहर में डयूटी मजिस्ट्रेट, पैरामिलिट्री फोर्स के कमांडर व अन्य संबंधित अधिकारियों के साथ एक बैठक के दौरान दी। उन्होंने कहा कि जिला अम्बाला में कानून व्यवस्था किसी भी सूरत में बिगड़ने नहीं दी चाहिए। 13 जगहों पर पुलिस के नाके भी लगाए गये हैं। शंभू बॉर्डर पर दिन रात डयूटी मजिस्ट्रेट व पुलिस की डयूटी लगाई गई है।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement
×