For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

एसआरके गुट का गुरुग्राम कार्यक्रम टला, नयी तारीख की घोषणा अभी नहीं

07:05 AM Jan 26, 2024 IST
एसआरके गुट का गुरुग्राम कार्यक्रम टला  नयी तारीख की घोषणा अभी नहीं
Advertisement

गुरुग्राम, 25 जनवरी (हप्र)
कांग्रेस नेता कुमारी सैलजा, रणदीप सुरजेवाला और किरण चौधरी द्वारा हरियाणा में की जा रही यात्रा का गुरुग्राम कार्यक्रम रद्द हो गया है। फिलहाल अगली तारीख घोषित नहीं की गई है। पूर्व कार्यक्रम के मुताबिक यह यात्रा 1 फरवरी को पहुंचनी थी।
गुरुग्राम में एसआरके गुट की इस यात्रा के संयोजक युवा कांग्रेस के पूर्व वरिष्ठ नेता प्रदीप जैलदार ने संपर्क करने पर कहा कि फिलहाल इस यात्रा का गुरुग्राम पहुंचने का कार्यक्रम रद्द नहीं हुआ है, केवल टला है। उन्होंने बताया कि अगला कार्यक्रम जल्दी घोषित कर दिया जाएगा। फिलहाल उनके पास कार्यक्रम की अगली तिथि नहीं है।
उन्होंने कहा कि पार्टी नेता राहुल गांधी की यात्रा के कारण कुछ नेताओं की ड्यूटियां लगी हैं और कुछ की बदल दी गई हैं। इसका प्रभाव गुरुग्राम के यात्रा के कार्यक्रम पर पड़ा है। उन्होंने कहा हरियाणा कांग्रेस में कोई गुटबाजी नहीं है, पार्टी आलाकमान के निर्देशानुसार कार्यक्रम चल रहे हैं। सभी लोग पार्टी को मजबूत करने का काम कर रहे हैं।
इससे पहले हरियाणा प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष चौधरी उदयभान और विधानसभा में विपक्ष के नेता पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा द्वारा अपने कार्यक्रमों के अंतर्गत गुरुग्राम में गत 6 जनवरी को कार्यकर्ता सम्मेलन घोषित किया गया था और उसे एक दिन पहले ही स्थगित कर दिया गया था। फिर कार्यक्रम 13 जनवरी का रखा गया। उसे भी टाल दिया गया है। बहरहाल, पहले हुड्डा और अब एसआरके गुट द्वारा गुरुग्राम में रद्द कर देने से कांग्रेस के सभी गुटों में निराशा है।
पार्टी सूत्रों का कहना है कि दक्षिण हरियाणा में गुरुग्राम एक ऐसा क्षेत्र बन गया है जहां कांग्रेस के एक से बढ़कर एक नेता हैं परंतु संगठन या रैली जब होती है तो इस इलाके को छोड़कर आसपास तो होती है।
शनिवार 27 जनवरी को गुरुग्राम जिले के फर्रुखनगर में कांग्रेस की जन आक्रोश रैली रखी गई है जिसे सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा संबोधित करेंगे। पता चला है कि इसका आयोजन और कार्यक्रम रोहतक लोकसभा क्षेत्र से जुड़े एक नेता के रिश्तेदार द्वारा किया गया है, जिसका स्थानीय स्तर पर कोई प्रभाव नहीं है। जबकि लोकल हुड्डा गुट के नेता इस कार्यक्रम से अनभिज्ञ थे। उन्हें तो दिल्ली दरबार से फोन आया कि इस जन आक्रोश रैली की तैयारी करनी है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
×