For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

दस घंटे ऑपरेशन कर बचाई मरीज की जान

06:51 AM Jan 26, 2024 IST
दस घंटे ऑपरेशन कर बचाई मरीज की जान
Advertisement

रोहतक (निस)

पीजीआईएमएस के चिकित्सकों ने एक बार फिर मौत के मुंह से एक मरीज को दस घंटे तक ऑपरेशन कर नया जीवन दिया। पीजीआई के निदेशक ने भी माना है कि पीजीआई में इस तरह का यह पहला केस है। बताया जा रहा है कि मरीज की छाती फटी हुई थी और बायीं तरफ से पसलियां पूरी तरह से टूटी हुई थीं। पीजीआई के निदेशक एवं कार्डियक सर्जन डॉ. एस.एस. लोहचब ने बताया कि एक अज्ञात व्यक्ति पानीपत में एक गंभीर ट्रेन दुर्घटना का शिकार हो गया था, जिसे पुलिस काफी गंभीर हालत में लेकर ट्रॉमा सेंटर पहुंची। जहां जांच करने पर चिकित्सकों ने पाया कि उसकी छाती सीधी फटी हुई थी, बायीं तरफ की पसलियां पूरी तरह से टूटी हुई थीं और उसका फेफड़ा और दिल एक बड़े गैप से बाहर निकला हुआ था। आघात छाती और पेट के ऊपर की त्वचा के खराब होने तक बढ़ गया, साथ ही मस्तिष्क में हेमेटोमा भी हो गया।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement
×