For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

रोमांटिक इमेज सिर्फ पर्दे पर

08:27 AM Jan 06, 2024 IST
रोमांटिक इमेज सिर्फ पर्दे पर
Advertisement

असीम चक्रवर्ती
वह इन दिनों पूरे जोश में हैं। यह स्वाभाविक बात है। असल में ‘एनीमल’ की सफलता से इन दिनों वह बेहद खुश हैं। पिछले कुछ सालों में शमशेरा,ब्रह्मास्त्र जैसी कुछ फिल्मों की विफलता ने उन्हें बहुत पीछे कर दिया था,मगर अब स्थितियां दूसरी हैं। उनके इंडोर्समेंट ही नहीं, उनकी फिल्मों का पारा भी बहुत तेजी से बदला है। जानिए, उनका नया प्लान।

कंट्रोवर्सी से दूर

उनकी नई फिल्म ‘एनीमल’ की सफलता के साथ कुछ विवाद भी जुड़ गए थे। मगर किसी विवादित सवाल पर जवाब होता है,‘ मुझे तो बस एक बात की खुशी है कि आर्टिस्ट के तौर पर इसमें मेरे काम की सराहना हुई। बाकी किसी विवादित सवाल से मेरा क्या मतलब। एक एक्टर के तौर पर मुझसे जो भी कहा गया,मैंने सिर्फ वही किया। यदि मुझे ऑफर किया गया ,तो मैं आगे भी एनीमल जैसी फिल्में करता रहूंगा।’

Advertisement

फिल्मों का फंडा

उनके मुताबिक वह फिल्मों का चयन करते समय निर्देशक को बहुत ज्यादा तवज्जो देते हैं। इसके बाद फिल्म के बैनर पर उनकी नजर होती है। वह इसकी वजह बताते हैं,‘ किसी भी फिल्म को बैनर की सपोर्ट बहुत जरूरी होती है। यदि किसी फिल्म को अच्छा सेटअप न मिले,तो अक्सर उसे सही कैनवस नहीं मिल पाता है। इसके चलते ही कुछ बड़े बैनर की फिल्में मेरी कमजोरी बन जाती हैं।’ बावजूद इसके निर्देशक को वह सबसे ऊपर रखना पसंद करते हैं।

चूक कबूल है

बतौर एक्टर वह अपनी चूक को बेहिचक कबूल करते हैं। वह बताते हैं,‘ शमशेरा व ब्रह्मास्त्र जैसी फिल्मों को मैंने बड़ी उम्मीद के साथ किया था। मगर न जाने इनके आने के बाद इनके रिस्पान्स से मैं बहुत ज्यादा खुश नहीं था। पर अब उन फिल्मों का पोस्टमार्टम करने का कोई औचित्य नहीं है। अब ऐसा लगता है कि हम सबसे कुछ बड़ी चूक हो गई थी।’

Advertisement

मौके मिले तो साबित किया

निस्संदेह वह एक उम्दा एक्टर हैं। मगर इसके साथ ही उनके बारे में मशहूर है कि वह अपने कैरियर को लेकर गंभीर नहीं। वरना वह कौन-सी फिल्म, क्यों और कैसे कर रहे हैं,वह एक बार जरूर सोचते। ऐसा भी नहीं है कि उन्हें ऐसे मौके मिलते नहीं। ‘अजब प्रेम की गजब प्रेम कहानी हो’ या फिर ‘बर्फी’,ऐसी कुछेक फिल्मों में उनकी एक्टिंग रेंज खुलकर सामने आयी थी,पर वह इन मौकों को आगे कैश करने में विफल रहे। वह मानते हैं,‘ असल में मैं बहुत गुणा-भाग कर कोई भी फिल्म नहीं कर सकता।’

रोमांटिक लाइफ

वह भले ही इस बात को कबूल न करें,पर यह सच है कि उनके कैरियर में उनकी निजी रोमांटिक लाइफ काफी अरसे तक बाधा बनी रही। अब यह अच्छी बात है कि उनमें एक स्थिरता आई है। ऐसे में ‘एनीमल’ की सफलता के बाद उन्हें एक बड़ा मौका मिला है। इसलिए अब थोड़ी-सी फुर्सत लेकर वे अपनी फिल्मों को लेकर सोचें।

खुद को गंभीर मानते हैं

वह बताते हैं कि रील लाइफ में भले ही उन्हें कितना भी लवर बॉय कहा जाए,निजी जीवन में वह जरा भी रोमांटिक नहीं हैं। वह कहते हैं,‘ सभी मुझे लवर बॉय कहते हैं,पर मैं जरा भी रोमांटिक नहीं हूं। इन फैक्ट मैं बहुत बोरिंग टाइप का आदमी हूं। अब जैसे कि मेरे बहुत सारे दोस्त हैं,जो बरसात के दिनों में बरामदे में बैठकर रिम-झिम बारिश का आनंद लेते हैं। कॉफी-पकौड़ा खाते हैं। मैं इन सब बातों का जरा भी आनंद नहीं लेता हूं। बल्कि बारिश होने पर सोचने लगता हूं कि रास्ते में पानी जमा हो गया है,सड़कें जाम हो गई होंगी।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
×