For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

जेड-प्लस सुरक्षा के साथ पार्टी आफिस में फर्श पर सोये रवनीत बिट्टू

07:55 AM May 12, 2024 IST
जेड प्लस सुरक्षा के साथ पार्टी आफिस में फर्श पर सोये रवनीत बिट्टू
सरकारी आवास खाली कराए जाने के बाद भाजपा कार्यालय में अपने प्रवास के दौरान कागजात देखते रवनीत बिट्टू। - ट्रिब्यून फोटो
Advertisement

वीरेंद्र प्रमोद/निस
लुधियाना, 11 मई
लुधियाना लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी रवनीत सिंह बिट्टू को शुक्रवार आधी रात सरकारी आवास से बेदखल कर दिया गया था। उन्होंने भाजपा कार्यालय में जेड-प्लस सुरक्षा के बीच फर्श पर गद्दे बिछाकर रात बिताई। उनकी सुरक्षा में चौबीसों घंटे एनएसजी और सीआरपीएफ के कमांडो साथ होते हैं।
भाजपा उम्मीदवार रवनीत बिट्टू ने शनिवार को आरोप लगाया कि आधी रात को लुधियाना एमसी ने जानबूझकर उन्हें मकान खाली करने का नोटिस दिया ताकि वह नामांकन नहीं कर पाएं। यह एक सुनियोजित साजिश थी। उनके जीवन को खतरे में डाला गया। उन्होंने कहा कि उनकी विजय यात्रा को रोकने के लिए आप और कांग्रेस आपस में मिले हुए हैं।
यहां भाजपा कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत में बिट्टू ने कहा कि मेरी जान को खतरा होने के चलते जेड-प्लस सुरक्षा दी गई थी और इसी कारण मुझे सरकारी आवास भी दिया गया था। अब सुरक्षाकर्मियों को हटा दिया गया है । उन्होंने कहा कि अगर कोई अप्रिय घटना होती है तो पंजाब के मुख्यमंत्री और पंजाब के पुलिस महानिदेशक सीधे तौर पर जिम्मेदार होंगे। मैंने 2017 और 2019 में एक ही सदन से चुनाव लड़ा लेकिन कोई सवाल नहीं उठाया गया। अब मुझे उक्त मकान तत्काल खाली करने का नोटिस दिया गया। मकान नहीं होने की वजह से अब मेरे सुरक्षा कर्मियों के लिए कोई जगह नहीं है, इससे मेरे जीवन को गंभीर खतरा है।
बिट्टू ने कहा कि ऐसा लगता है कि कुछ शक्तियां मेरा राजनीतिक करियर खत्म करना और मुझे शारीरिक रूप से खत्म करना चाहती है। मुझे खतरे की अधिक आशंका है और गैंगस्टर और खालिस्तानी तत्व पहले ही मुझे धमकियां दे चुके हैं। उन्होंने कहा कि आप सरकार पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या का क्रम दोहरा रही है, जिनकी सुरक्षा वापस ले ली गई है ताकि उन्हें आसानी से निशाना बनाया जा सके। उन्होंने कहा कि वह अपने दिवंगत दादा मुख्यमंत्री सरदार बेअंत सिंह की तरह पंजाब के लिए अपनी जान कुर्बान करने से नहीं डरते।

मेरी जान को खतरा
बिट्टू ने कहा कि उन्हें आधी रात को करीब 11.18 बजे व्हाट्सएप और आधिकारिक ईमेल के जरिए किराया वसूली नोटिस भेजा गया था। मुझे 2017 और 2019 के चुनावों में एमसी से एनओसी और नो ड्यूज सर्टिफिकेट मिला। उन्होंने कहा कि मैं नियमित रूप से पानी और बिजली के बिल का भुगतान कर रहा था और अतीत में यह कहते हुए कोई नोटिस जारी नहीं किया गया था कि मेरा कब्जा अवैध है। उन्होंने कहा कि उन्होंने 2 मई, 2024 को एनओसी के लिए आवेदन किया था, लेकिन 48 घंटे के भीतर दस्तावेज जारी करने के चुनाव आयोग के निर्देशों के बावजूद 8 मई तक इसे जारी नहीं किया गया था। उन्होंने कहा कि लुधियाना की जनता इस कुकृत्य का करारा जवाब देगी। उन्होंने कहा कि आप और कांग्रेस डरी हुई हैं क्योंकि भाजपा लुधियाना सीट भारी अंतर से जीतने वाली है।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement
×