For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

बिना चीरफाड़ होगा पोस्टमार्टम

08:58 AM Mar 19, 2024 IST
बिना चीरफाड़ होगा पोस्टमार्टम
रोहतक स्थित पीजीआई में सोमवार को आयोजित वर्कशाप में पुलिस महानिदेशक शत्रुजीत कपूर का स्वागत करते डॉक्टर। -निस
Advertisement

अनिल शर्मा/निस
रोहतक, 18 मार्च
अब पीजीआई में भी वर्चुअल ऑटोप्सी तकनीक से शव का बिना चीरफाड़ पोस्टमार्टम हो होगा। इसके लिए फोरेंसिक डॉक्टरों को विशेष ट्रेनिंग दी जा रही है। वर्चुअल ऑटोप्सी को बढ़ावा देने और प्रदेश के डॉक्टरों व पुलिस कर्मियों को जागरूक करने के लिए पीजीआई में सोमवार को एक दिवसीय वर्कशाप आयोजित की गई। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में पुलिस महानिदेशक शत्रुजीत कपूर मौजूद रहे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में पीजीआई ऐसा पहला सरकारी संस्थान है जहां वर्चुअल ऑटोप्सी शुरू हो चुकी है। फिजिकल और वर्चुअल ऑटोप्सी अलग है। प्रदेश स्वास्थ्य सेवा विभाग के महानिदेशक डॉ. रणदीप सिंह पूनिया ने बताया कि आज 6 देशों में वर्चुअल ऑटोप्सी की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग फोरेंसिक विशेषज्ञों को ट्रेनिंग दे रहा है और प्रयास किया जा रहा है कि बहुत जल्द पॉयलट प्रोजेक्ट के तौर पर इसे 1 या 2 जिलों में शुरू किया जाए। हमारे देश में मृत शरीर की हमेशा कदर होती है, ऐसे में वर्चुअल ऑटोप्सी अपने देश में बहुत कारगर साबित होगी।

‘सीटी स्कैन से परीक्षण’

निदेशक डॉ. एसएस लोहचब ने कहा कि वर्चुअस ऑटोप्सी फॉरेंसिक जांच की एक नायाब खोज है। इसमें बिना चीर-फाड़ के शव का पोस्टमार्टम किया जाता है। इसमें एमआरआई, सीटी स्कैन, एक्स-रे के सहारे डॉक्टर शव का परीक्षण करते हैं। इस प्रक्रिया में रिजल्ट आसानी से और जल्द ही मिल जाता है।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement
×