For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

किसानों को रोकने के लिये पुलिस ने कसी कमर, अर्धसैनिक बल भी तैयार

10:52 AM Feb 13, 2024 IST
किसानों को रोकने के लिये पुलिस ने कसी कमर  अर्धसैनिक बल भी तैयार
नरेंद्र बिजारनिया, एसपी जींद
Advertisement

सोनीपत, 12 फरवरी (हप्र)
दिल्ली पुलिस ने किसानों को रोकने के लिए तैयारियों को अंतिम रूप देना शुरू कर दिया है। सोनीपत-दिल्ली की सीमा पर स्थित कुंडली-सिंघु बॉर्डर पर संपर्क मार्ग को 6 लेयर की बैरिकेडिंग कर बंद कर दिया है। दिल्ली को आवागमन सिर्फ फ्लाईओवर के ऊपर से हो रहा है। फ्लाईओवर के ऊपर भी महज दो लेन से वाहनों को निकाला जा रहा है। अन्य लेन पर खाली कंटेनर, पत्थर व लोहे के बैरिकेड तथा कंटीले तार रखे गए हैं। फ्लाईओवर पर दो लेन से आवागमन व व्यावसायिक टोल कर्मियों के टोल लेने के लिए खड़े होने से जाम की स्थिति बन रही है। एसकेएम (गैर राजनीतिक) ने दिल्ली कूच को किसान आंदोलन-2 का नाम दिया है। इस कूच में हरियाणा से 7, पंजाब के 10 व हिमाचल प्रदेश से एक संगठन समेत 18 किसान संगठनों के शामिल होने की बात कही जा रही है। कुंडली-सिंघु सीमा पर संपर्क मार्ग पूरी बंद कर दिया गया है। फ्लाईओवर के ऊपर से वाहनों को भेजा जा रहा है। सोनीपत के कुंडली से दिल्ली के गांव सिंघोला तक फ्लाईओवर बना दिया गया है। गांव सिंघोला के पास दिल्ली पुलिस व अर्धसैनिक बलों ने फिर से बेरिकेडिंग, कंटीले तार, लोहे व पत्थर के बेरिकेड के साथ सीमेंट के बैग भी रखवा दिए हैं। क्रेन भारी पत्थर लाकर रख रही है। क्रेन व कंटेनर भी लाकर रखे गए हैं।

6 लेन की बैरिकेडिंग

कुंडली बॉर्डर पर सबसे पहले पत्थर के बैरिकेड लगाए गए हैं। उसके बाद लोहे के बैरिकेड लगाए गए हैं। फिर रोड रोलर खड़े किए गए हैं। अगली लेयर में दीवारनुमा पत्थर रखकर उनमें कंक्रीट व सीमेंट भर दिया गया है। कंटीले तार लगे बैरिकेड लगाये गये हैं। पानीपत क्षेत्र के गांव पट्टी कल्याणा में नाका लगाया है। कुंडली-सिंघु बॉर्डर पर फ्लाईओवर के ऊपर व नीचे संपर्क मार्ग पर अद्धसैनिक बल के जवान पूरी तरह से तैयार है।

Advertisement

खाप पंचायतों, किसान यूनियन ने बनायी दूरी

जींद (हप्र): प्रदेश में किसान आंदोलनों का गढ़ रहे जींद जिले में इस बार किसान आंदोलन की कोई सुगबुगाहट नहीं है। भारतीय किसान यूनियन से लेकर जींद जिले की खाप पंचायतों ने किसान आंदोलन से उचित दूरी बनाई हुई है। यह मंगलवार को पंजाब की सीमा से जींद जिले से होते हुए दिल्ली जाने से पंजाब के किसानों को रोकने के लिए दातासिंहवाला में मोर्चे पर डटे एसपी नरेंद्र बिजारनिया और जींद प्रशासन के लिए बहुत बड़ी राहत की बात है। इसी बीच जींद की कई खाप पंचायतों और भारतीय किसान यूनियन ने साफ कर दिया है कि उनका आंदोलन से कोई लेना-देना नहीं है। पंजाब के जिन किसान संगठनों ने 13 फरवरी को दिल्ली कूच का आह्वान किया है। उनमें से संगरूर, लुधियाना, मानसा, पटियाला आदि जिलों के लिए सबसे छोटा रूट जींद-संगरूर और जींद- रोहतक नेशनल हाईवे से होकर है। इसी कारण जींद मंगलवार से शुरू हो रहे किसान आंदोलन को लेकर संवेदनशील बना हुआ है। पुलिस प्रशासन ने जींद जिले को पुलिस छावनी में बदल दिया है। भारतीय किसान यूनियन के जिला प्रेस प्रवक्ता रामराजी ढुल ने कहा कि मंगलवार के दिल्ली कूच का आह्वान संयुक्त किसान मोर्चा ने नहीं किया है। इस कारण भाकियू आंदोलन में कोई भाग नहीं लेगी। पूनिया खाप के राष्ट्रीय प्रवक्ता जितेंद्र छात्तर ने कहा कि मंगलवार को जो आंदोलन शुरू हो रहा है, उसका किसानों से कोई मतलब नहीं है। माजरा खाप के प्रधान सरदार गुरविंदर सिंह ने कहा कि उनकी खाप आंदोलन में शामिल नहीं है। सर्व खाप पंचायत के राष्ट्रीय अध्यक्ष टेकराम कंडेला का कहना है कि इस आंदोलन में शामिल होने पर अभी तक कोई फैसला नहीं लिया गया है।

डायवर्ट किए रूट

राष्ट्रीय राजमार्ग-44 से होकर सोनीपत से दिल्ली व दिल्ली से पानीपत की तरफ मार्ग पर 13 फरवरी को वाहनों का आवागमन बंद करने की स्थिति में ट्रैफिक पुलिस ने नया रूट डायवर्ट प्लान जारी किया है।नये रूट के तहत दिल्ली से पानीपत की तरफ हलदाना बॉर्डर से आगे मार्ग अवरूद्ध होने पर दिल्ली से मुरथल होते हुए गन्नौर चौक, गन्नौर के नमस्ते चौक से गांव गुमड़, कैलाना, खानपुर से गोहाना होते हुए पानीपत पहुंच सकेंगे। इसी तरह दिल्ली से मुरथल बाईपास नेशनल हाईवे-352ए से सोनीपत गोहाना बाईपास, गांव बड़वासनी, गांव मोहाना से गोहाना होते पानीपत जा सकेंगे। पानीपत से दिल्ली की जाने के लिए एनएच-44 से मुरथल बाईपास, सोनीपत गोहाना बाईपास, गांव बड़वासनी नहर मार्ग से, गांव महलाना, गांव रोहट, एनएच-344पी, और बवाना से होते हुए दिल्ली पहुंचा जा सकेगा। एनएच-44 से बीसवां मील चौक, गांव जठेड़ी, बारोटा चौकी, गांव बारोटा, सफियाबाद बॉर्डर से दिल्ली जा सकेंगे। एनएच-44 से बीसवां मील चौक, गांव जठेड़ी, बारोटा चौकी, गांव छतहेरा, नाहरी लामपुर बॉर्डर से होते हुए भी दिल्ली पहुंचा जा सकेगा। एनएच-44 से नाथूपुर मोड़, गांव सबौली, आईटीबीपी कैंप सबौली से नरेला होते हुए दिल्ली में प्रवेश कर सकेंगे। एनएच-44 केएमपी से गांव पिपली टोल, गांव सैदपुर औचंदी बॉर्डर से दिल्ली जा सकते हैं।

Advertisement

करमन वॉर्डर पर नाका

होडल (निस) : करमन बॉर्डर पर पुलिस नाका लगा कर वाहनों की चैकिंग कर रही है। एसपी मुख्यालय पलवल नरेश कुमार ने पंजाब की यात्रा अति आवश्यक परिस्थितियों में ही करने की अपील की है । एसपी पलवल डॉक्टर अंशु सिंगला ने जगह-जगह पुलिसकर्मियों की तैनाती की है। होडल, करमन उत्तर प्रदेश सीमा पर भी नाका लगाया गया है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
×