For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

पाकिस्तान ने ईरान से अपने राजदूत को वापस बुलाया

06:46 AM Jan 18, 2024 IST
पाकिस्तान ने ईरान से अपने राजदूत को वापस बुलाया
Advertisement

लाहौर/इस्लामाबाद, 17 जनवरी (एजेंसी)
पाकिस्तान ने बलूचिस्तान प्रांत में एक सुन्नी आतंकी संगठन से जुड़े ठिकानों को निशाना बनाकर हवाई हमले किए जाने के चलते बुधवार को ईरान से अपने राजदूत को वापस बुला लिया तथा सभी आगामी उच्च स्तरीय द्विपक्षीय यात्राएं निलंबित कर दीं। इतना ही नहीं पाकिस्तान ने ईरान को ‘गंभीर परिणाम’ भुगतने की चेतावनी भी दी है। ईरान के इन हमलों में दो बच्चों की मौत हो गई और तीन अन्य घायल हो गए।
उसने कहा, ‘पाकिस्तान को इस अवैध कृत्य का जवाब देने का हक है। इसके परिणामों की पूरी जिम्मेदारी ईरान पर होगी।’ विदेश कार्यालय ने कहा, ‘हमने सूचित कर दिया है कि पाकिस्तान ने ईरान से अपने राजदूत को वापस बुलाने का फैसला किया है और यह भी कि ईरान यात्रा पर गये पाकिस्तान में ईरान के राजदूत फिलहाल न लौटें। हमने उन सभी उच्च स्तरीय यात्राओं को भी निलंबित करने का निर्णय लिया है जो चल रही हैं या आने वाले दिनों के लिए पाकिस्तान एवं ईरान के बीच निर्धारित की गयी हैं।’
ईरानी मीडिया ने बताया कि पाकिस्तान में आतंकवादी समूह जैश-अल-अदल के दो ठिकानों को मंगलवार को मिसाइलों से निशाना बनाया। यह कार्रवाई रिवोल्यूशनरी गार्ड्स द्वारा इराक और सीरिया में किए गए हमलों के एक दिन बाद की गई थी। इससे पहले पाकिस्तान ने ‘अपने हवाई क्षेत्र के उल्लंघन’ की कड़ी निंदा करते हुए ईरान के प्रभारी राजदूत को विदेश मंत्रालय में तलब किया। पाकिस्तानी विदेश कार्यालय ने बयान जारी कर कहा कि ईरान का यह कृत्य उसके ‘हवाई क्षेत्र का अकारण उल्लंघन’ है।
ईरानी समाचार एजेंसी तसनीम ने कहा, ‘पाकिस्तान में जैश-अल-धुल्म (जैश-अल-अदल) आतंकवादी समूह के दो प्रमुख ठिकानों को विशेष रूप से लक्षित किया गया और सफलतापूर्वक ध्वस्त कर दिया गया।’ ईरान ने बार-बार कहा है कि जैश-अल-अदल उसके सुरक्षाबलों पर हमले करने के लिए पाकिस्तान की भूमि का इस्तेमाल कर रहा है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
×