For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

नाटो एक पवित्र प्रतिबद्धता, लेकिन  ट्रंप के लिए बोझ : बाइडेन

07:38 AM Feb 15, 2024 IST
नाटो एक पवित्र प्रतिबद्धता  लेकिन  ट्रंप के लिए बोझ   बाइडेन
Advertisement
वाशिंगटन, 14 फरवरी (एजेंसी)
अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) पर हाल में की टिप्पणियों के लिए अपने पूववर्ती डोनाल्ड ट्रंप की आलोचना करते हुए कहा कि 74 साल पुराना यह सैन्य गठबंधन अमेरिका के लिए एक पवित्र प्रतिबद्धता है। बाइडेन ने व्हाइट हाउस में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘जब अमेरिका अपनी जुबान देता है तो उसका कुछ मतलब होता है। जब हम कोई वादा करते हैं तो उसे निभाते हैं और नाटो एक पवित्र प्रतिबद्धता है। डोनाल्ड ट्रंप इसे ऐसे देखते हैं जैसे यह कोई बोझ हो।’ उनकी यह टिप्पणी इस सप्ताहांत साउथ कैरोलाइना में एक रैली में ट्रंप के उस बयान के बाद आयी है जिसमें उन्होंने कहा था कि वह नाटो सहयोगियों से अपना रक्षा खर्च बढ़ाने के लिए कहेंगे, अन्यथा रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को उन देशों पर हमला करने के लिए प्रेरित करेंगे।
रिपब्लिकन पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनने के सबसे प्रबल दावेदार ट्रंप ने कहा था कि रूस उन नाटो सदस्यों के साथ ‘जो करना चाहे, करें’, जो रक्षा पर खर्च के अपने लक्ष्यों को हासिल नहीं कर पाते हैं। नाटो सहयोगियों ने 2014 में 2024 तक रक्षा पर सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का दो फीसदी खर्च करने का संकल्प लिया था। नाटो के आकलन के मुताबिक, 2023 की शुरुआत तक उसके 30 में से 10 सदस्य दो फीसदी तक या उससे अधिक खर्च करने के करीब थे जबकि 13 देश 1.5 प्रतिशत या उससे कम खर्च कर रहे थे। ट्रंप की टिप्पणियों के जवाब में बाइडेन ने कहा, ‘ट्रंप के लिए सिद्धांत मायने नहीं रखते हैं। मैं याद दिलाऊंगा कि अनुच्छेद पांच को हमारे नाटो के इतिहास में केवल एक बार लागू किया गया है और यह 9/11 हमले के बाद।’ बाइडेन ने कहा, ‘जब तक मैं राष्ट्रपति रहूंगा, अगर पुतिन किसी नाटो सहयोगी पर हमला करते हैं तो अमेरिका नाटो क्षेत्र के एक-एक इंच की रक्षा करेगा।’ अमेरिकी राष्ट्रपति ने ट्रंप की टिप्पणियों को शर्मनाक और ‘अमेरिका विरोधी’ बताया।
-फाइल फोटो
Advertisement
Advertisement
Advertisement
×