For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

अच्छा व्यवहार भी रखें ऊंचा मुकाम पाने को

08:17 AM Mar 21, 2024 IST
अच्छा व्यवहार भी रखें ऊंचा मुकाम पाने को
Advertisement

राजेंद्र कुमार शर्मा
हरेक युवा के सामने सबसे बड़ी चुनौती अच्छी जॉब प्राप्त करने की रहती है। वहीं सरकारी नौकरी हर किसी को मिलनी संभव नहीं। पर आजकल निजी क्षेत्र में कैरियर सरकारी जॉब से अधिक शानदार और कम समय में अच्छी उन्नति देने वाला साबित हो सकता है। आप हर वर्ष बढ़ते अनुभव के साथ अपने कैरियर ग्राफ को ऊपर की ओर ले जा सकते हैं।
परंतु निजी क्षेत्र में आप अपनी पहचान स्वयं बनाते हैं, अपनी कार्य कुशलता, अच्छे व्यवहार और परिश्रम से अपने आप को साबित करते हैं। ऐसे ही कई और भी पैमाने हैं जिन पर आप खरे उतर कर सुरक्षित मुकाम हासिल कर सकते हैं।
युवा जो निजी क्षेत्र में जॉब के लिए प्रयासरत हैं या जिन्होंने हाल ही में किसी निजी क्षेत्र में जॉब प्राप्त की है, उनके लिए कुछ विशेष टिप्स हैं जिन्हें अपनाकर वे कार्यस्थल पर अपने लिए एक सम्मानित स्थान तो बना ही सकते हैं साथ ही अपनी जॉब में जल्दी ही अगले पायदान पर चढ़ सकते हैं।

आलोचना तो बिल्कुल नहीं

कई बार देखा गया है कि मन मुताबिक नौकरी न मिलने की स्थिति में, असंतुष्टि के भाव के चलते, आप अपने सीनियर या बॉस या फिर कंपनी की कार्य प्रणाली की जाने-अनजाने में सहकर्मियों के समक्ष आलोचना कर बैठते हैं। जिससे आपके व्यक्तित्व का एक नकारात्मक पक्ष सामने आता है। साथ ही यह बात आपके सीनियर या बॉस तक पहुंचने के चांस भी कम नहीं। यह आपके कैरियर के लिए नुकसानदेह हो सकता है। खुद को ऐसी आलोचना करने से बचाएं।

Advertisement

कार्य के प्रति गंभीरता

अक्सर देखा गया है नव नियुक्त युवा की ऐसी मानसिकता होती है कि नई जगह पर एडजस्ट होने में थोड़ा समय तो लगता है और इस दौरान अगर कोई छोटी त्रुटि हो भी गई तो कोई सीनियर कुछ नहीं कहेगा। आपकी ये सोच गलत है क्योंकि कोई भी कंपनी आपको एक लंबे और गहन साक्षात्कार के बाद, आपकी कार्य कुशलता को देखकर जॉब ऑफर करती है। आप स्थान के लिए नए हो सकते हैं परंतु अपने कार्य के लिए नए नहीं। अतः अपने कार्य के प्रति गंभीर रहें, त्रुटि न होने दें।

संस्थान के प्रति निष्ठा

आप जिस कंपनी में कार्य करें, उस कंपनी के प्रति पूर्ण निष्ठावान रहें। कई युवा, दूसरी कंपनी में इंटरव्यू के दौरान, अपनी वर्तमान कंपनी की कमियां या उसके रहस्य, साक्षात्कार कर्ता के सामने उजागर करना शुरू कर देते हैं। इससे आपकी निष्ठा संदेह के घेरे में आ जाती है। यह गलती न करें।

Advertisement

बॉस के सामने झूठ

अपने कार्य के दौरान या फिर अवकाश प्राप्ति के लिए बहाने या झूठ का सहारा न लें। जिस भी कार्य के लिए आपको छुट्टी चाहिए, उसके विषय में ही बताकर छुट्टी लेने से आप तनावग्रस्त नहीं होंगे। दूसरा आपके वरिष्ठ अधिकारी को आपकी मजबूरी का पता होगा तो वह आपके लिए सहायक हो सकता है। परंतु अगर आप झूठ या बहाने बनाकर अवकाश लेते हैं और बाद में सच्चाई सामने आने पर आप अपने बॉस के सामने विश्वसनीयता खो बैठते हैं। हो सकता है भविष्य में आपको जिम्मेदारी वाले कार्यों से वंचित कर दिया जाए।

ऑफिस देर से पहुंचना

समय का पाबंद होना सफलता पाने का मंत्र होता है। किसी भी कार्य स्थल में बॉस को लेट आने वाले कर्मचारी कभी रास नहीं आते। उस पर भी देर से आने के बाद सॉरी कहने के बजाय अगर कोई इधर-उधर का बहाना बनाए तो हो सकता है बॉस को क्रोध आ जाए। जो ऑफिस में काम के प्रति अपना पैशन और समर्पण दिखाते हैं उन्हें पसंद किया जाता है। इसके विपरीत टाइम मैनेजमेंट न कर पाने वाले कर्मचारी कम पसंद किए जाते हैं।

संप्रेषण में बाधा

यदि समय पर कोई महत्वपूर्ण मेल या सूचना न भेजी जाए तो संस्थान में काम करने वाले दूसरे कर्मचारियों की कार्यक्षमता भी प्रभावित होती है। इसके परिणामस्वरूप संस्थान को नुक्सान हो सकता है। सूचना संप्रेषण में बाधा या देरी की वजह से बॉस देर से आने वाले कर्मचारियों से नाराज रहते हैं।
निजी क्षेत्र में जॉब को लेकर उपरोक्त कुछ महत्वपूर्ण तथ्य ऐसे हैं, जिन्हें यदि नौकरी में नव नियुक्त युवा अपनी प्रोफेशनल लाइफ में अनुसरण करने का प्रयास करें तो वे सफलता का अपना लक्ष्य कम समय में प्राप्त कर सकते हैं। यह सही है कि सफलता का कोई शॉर्टकट नहीं होता पर आपकी मेहनत, निष्ठा, ईमानदारी व कार्य के प्रति समर्पण वो गुण हैं जिनसे आप कुछ ही समय में सफलता हासिल कर सकते हैं।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
×