For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

Loksabha Election: अंतिम चरण का चुनाव प्रचार समाप्त, 57 सीटों के लिए 1 जून को होगा मतदान

07:14 PM May 30, 2024 IST
loksabha election  अंतिम चरण का चुनाव प्रचार समाप्त  57 सीटों के लिए 1 जून को होगा मतदान
Advertisement

चंडीगढ़, 30 मई (भाषा)

Last phase of Lok Sabha election:  लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण का चुनाव प्रचार थम गया है। मतदान 1 जून को होगा। इसके बाद 4 जून को मतगणना होगी। अंतिम चरण में आठ राज्यों और केंद्रशासित राज्यों की 57 सीटों पर मतदान होना है। इनमें पंजाब में 13, चंडीगढ़ में 1, यूपी में 13 सीटों, बिहार में 8, ओडिशा में 6, झारखंड में 3, हिमाचल प्रदेश में 4 और पश्चिम बंगाल में 9 सीट शामिल हैं। चुनाव में एनडीए और इंडिया गठबंधन दोनों की साख दांव पर है।

Advertisement

अंतिम चरण के मतदान में पीएम नरेंद्र मोदी वाराणसी सीट भी शामिल है। चुनाव प्रचार के अंतिम दिन दिग्गज नेताओं ने पूरी ताकत झोंके रखी। पीएम मोदी ने पंजाब के होशियारपुर में चुनावी रैली की। इसके अलावा योगी आदित्यनाथ, नितिन गडकरी, प्रियंका गांधी ने अपनी-अपनी पार्टी के उम्मीदवारों के लिए हिमाचल में वोट मांगे।

पंजाब में इस चुनाव में चार बार की सांसद परनीत कौर, पूर्व मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और शिरोमणि अकाली दल (शिअद) की हरसिमरत कौर बादल की राजनीतिक प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। एक जून को लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में अन्य प्रमुख उम्मीदवारों में रवनीत सिंह बिट्टू शामिल हैं।

Advertisement

चंडीगढ़ संसदीय क्षेत्र में भी शाम छह बजे चुनाव प्रचार समाप्त हो गया। इस सीट पर मुख्य मुकाबला भाजपा के संजय टंडन और कांग्रेस के मनीष तिवारी के बीच है। अधिकारियों ने कहा कि एक जून को सुबह सात बजे से शाम छह बजे तक मतदान होगा।

पंजाब में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) और ‘इंडिया' गठबंधन में उसके सहयोगी दल कांग्रेस के अलावा भाजपा, शिअद भी अलग-अलग चुनाव लड़ रही हैं, जिससे मुकाबला बहुकोणीय हो गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय मंत्रियों अमित शाह, राजनाथ सिंह और निर्मला सीतारमण, भाजपा प्रमुख जेपी नड्डा और पार्टी के शासन वाले राज्यों के मुख्यमंत्रियों समेत वरिष्ठ नेताओं ने प्रचार किया।

कांग्रेस की ओर से पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाद्रा ने पार्टी उम्मीदवारों के लिए प्रचार किया। आबकारी नीति मामले में अंतरिम जमानत पर बाहर आए दिल्ली के मुख्यमंत्री और ‘आप' के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने भी पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के साथ मिलकर पार्टी के उम्मीदवारों के लिए आक्रामक प्रचार अभियान चलाया।

शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने पूरे राज्य में अपनी पार्टी के अभियान का नेतृत्व किया। पंजाब में 26 महिलाओं समेत 328 उम्मीदवार हैं, जबकि चंडीगढ़ में दो महिलाओं समेत 19 प्रत्याशी किस्मत आजमा रहे हैं। पंजाब में 1,01,74,240 महिलाओं और 773 ट्रांसजेंडर व्यक्तियों समेत कुल 2,14,61,739 मतदाता हैं।

चंडीगढ़ में कुल 6,59,805 मतदाता हैं, जिनमें 3,18,226 महिलाएं और 35 ट्रांसजेंडर हैं। चंडीगढ़ सीट पर अभी भाजपा का कब्जा है। हालांकि, इस बार मौजूदा सांसद किरण खेर को भाजपा ने प्रत्याशी नहीं बनाया। पंजाब में 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने 13 में से आठ सीट जीती थीं। उस समय सहयोगी के तौर पर चुनाव लड़ रहे अकाली दल और भाजपा ने दो-दो सीटे जीती थीं।

आम आदमी पार्टी को सिर्फ संगरूर सीट पर जीत मिली थी। वहीं, हिमाचल प्रदेश में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भाजपा प्रत्याशियों जबकि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने अपनी पार्टी के उम्मीदवारों के लिए जोरदार प्रचार किया।

मंडी लोकसभा सीट पर काफी कुछ दांव पर लगा है, जहां पूर्ववर्ती रामपुर रियासत के "राजा" और छह बार के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के बेटे व कांग्रेस नेता विक्रमादित्य सिंह भाजपा उम्मीदवार अभिनेत्री कंगना रनौत आमने-सामने हैं।

इसके अलावा हमीरपुर लोकसभा सीट से चार बार के सांसद और केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर पांचवीं बार चुनाव लड़ रहे हैं। यह निर्वाचन क्षेत्र इसलिए भी महत्वपूर्ण हो गया है क्योंकि इसके तहत आने वाले वाले छह में से चार विधानसभा क्षेत्रों में उपचुनाव हो रहे हैं।

हमीरपुर, मंडी, कांगड़ा और शिमला की चार लोकसभा सीटों के अलावा सुजानपुर, धर्मशाला, लाहौल-स्पीति, बड़सर, गगरेट और कुटलैहड़ समेत छह विधानसभा सीटों पर भी उपचुनाव हो रहे हैं। 27 फरवरी को राज्यसभा चुनाव में भाजपा के उम्मीदवार के पक्ष में मतदान करने वाले कांग्रेस के छह विधायकों को अयोग्य करार घोषित किए जाने के बाद ये सीट खाली हुई थीं।

प्रधानमंत्री मोदी और गृह मंत्री शाह ने राज्य में चारों लोकसभा क्षेत्रों में दो-दो रैलियां कीं। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने अपने गृह राज्य में जोरदार प्रचार किया, जबकि केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने राज्य में तीन जनसभाओं को संबोधित किया। राज्य में सत्तारूढ़ कांग्रेस के लिए, पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने शिमला पीसी के रोहू (सेब उत्पादक क्षेत्र) में एक रैली की। राहुल गांधी ने एक दिन में दो रैलियों को संबोधित किया, जबकि प्रियंका गांधी वाड्रा ने चार दिनों में कई रैलियों को संबोधित किया।

उत्तर प्रदेश में इस चरण में इन लोकसभा क्षेत्रों के लिए कुल 144 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं, जिनमें 134 पुरुष और 10 महिलाएं हैं। राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी नवदीप रिणवा ने कहा कि सोनभद्र जिले के दुद्धी (सुरक्षित) विधानसभा उपचुनाव के लिए छह उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए जन प्रतिनिधित्व अधिनियम, 1951 की धारा-126 के तहत सभी 13 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों तथा दुद्धी विधानसभा क्षेत्र में भी चुनाव प्रचार-प्रसार संबंधी समस्त गतिविधियों एवं अभियानों पर आज शाम छह बजे से प्रतिबंध रहेगा।

चुनाव प्रचार की अवधि समाप्त होने के बाद इन निर्वाचन क्षेत्रों में सभी राजनीतिक दलों के बाहरी कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों की मौजूदगी पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगी। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि सातवें चरण के चुनाव प्रचार अभियान की समाप्ति के बाद इन निर्वाचन क्षेत्रों के जिला निर्वाचन अधिकारी यह सुनिश्चित करेंगे कि राजनीतिक दलों के सभी बाहरी पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता इस दौरान इन निर्वाचन क्षेत्रों में उपस्थित न रहें।

भीषण गर्मी को देखते हुए मतदान केंद्रों पर आवश्यक व्यवस्थाएं की गई हैं, जिसमें ठंडा पेयजल, पुरुषों और महिलाओं के लिए शौचालय, विकलांगों और बुजुर्गों के लिए व्हीलचेयर और कुर्सियां शामिल हैं।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Advertisement
×