For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

अधिकारियों को प्रत्येक जिले से 500 किसान मित्र तैयार करने के निर्देश

09:04 AM Feb 05, 2024 IST
अधिकारियों को प्रत्येक जिले से 500 किसान मित्र तैयार करने के निर्देश
करनाल में आयोजित सब्जी एक्सपो मेले का रविवार को शुभारंभ करते संयुक्त निदेशक व अन्य अधिकारी।-हप्र
Advertisement

करनाल, 4 फरवरी (हप्र)
उद्यान विभाग द्वारा घरौंडा में स्थित सब्जी उत्कृष्टता केंद्र में दो दिवसीय 10वें सब्जी एक्सपो मेले का आयोजन किया गया। मेले का शुभारंभ विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ. मनोज कुमार कुंडू ने मुख्य अतिथि के रूप में किया जबकि विशिष्ट अतिथि के रूप में विभाग के सयुंक्त निदेशक डॉ. पीसी संधू ने भी शिरकत की। मुख्य अतिथि संयुक्त निदेशक मनोज कुमार कुंडू ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि संरक्षित खेती को सब्जी उत्कृष्ट केंद्र तक सीमित न रखकर, इस तकनीक को प्रदेश के हर किसान के खेत तक पहुंचाने का लक्ष्य रखना होगा। लक्ष्य को हासिल करने के लिए उन्होंने विभाग के सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि वह हर ज़िले में 500 किसान मित्र तैयार करें। वह किसानों को सरक्षित खेती करने के लिए प्रेरित करेंगे और किसानों को इसके होने वाले फायदे व मुनाफे के बारे में अवगत करवाएंगे।
उन्होंने कहा कि प्रदेश की बागवानी खेती का पूरे भारत में नाम प्रसिद्ध है। पिछले 10 सालों में प्रदेश के बागवानी विभाग ने जो तरक्की की है, वह किसी अन्य राज्य ने नहीं की है। उन्होंने कहा कि किसानों को एक्सपोजर विजिट के माध्यम से बाहरी राज्यों की सब्जियां एवं फलों की किस्म को अपनाना चाहिए ताकि प्रदेश की मंडियो में भी किसी प्रकार की कोई कमी न रहे। सब्जी उत्कृष्टता केन्द्र घरौंडा के उपनिदेशक डॉ. बिल्लू कादियान ने बताया कि विभाग द्वारा लगाए गए इस दो दिवसीय मेले में प्रथम दिन प्रदेश भर के हजारों किसानों ने रुचि दिखाई और आयोजन में पहुंचकर नयी-नयी तकनीकों की जानकारियां ली। इस दौरान कार्यक्रम के अतिथियों व अन्य कृषि विशेषज्ञों ने मेले में लगे सभी स्टालों का अवलोकन भी किया।
इंडो- इजरायल सब्जी उत्कृष्टता केंद्र घरौंडा की ओर से उद्यान अधिकारी डॉ. हर्षिता सिंह मोर ने जानकारी देते हुए बताया कि मेले का मुख्य उद्देश्य किसानों को वर्टिकल खेती अपनाने के लिए जागरूक करना है। उन्होंने आस-पास के क्षेत्र सहित प्रदेश के सभी किसानों से आह्वान किया कि वे एक बार सब्जी उत्कृष्टता केंद्र घरौंडा में जरूर आकर देखें कि किस प्रकार से नयी-नयी तकनीकों का प्रयोग करके किसान अपनी आय में वृद्धि कर सकते हैं।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
×