For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

भारतीय महिला टीम पहली बार फाइनल में

10:38 AM Feb 18, 2024 IST
भारतीय महिला टीम पहली बार फाइनल में
Advertisement

शाह आलम (मलेशिया), 17 फरवरी (एजेंसी)
भारतीय महिला टीम ने शनिवार को यहां रोमांचक सेमीफाइनल में दो बार के पूर्व चैम्पियन जापान को 3-2 से हराकर पहली बार बैडमिंटन एशिया टीम चैम्पियनशिप के फाइनल में प्रवेश किया, जिससे देश की पहला स्वर्ण पदक जीतने की उम्मीदें जीवंत हैं। दुनिया की 23वें नंबर की जोड़ी तृषा जॉली और गायत्री गोपीचंद ने पहला युगल, विश्व की 53वें नंबर की खिलाड़ी अस्मिता चालिहा ने दूसरा एकल और 17 वर्षीय अनमोल खरब ने निर्णायक एकल जीतकर भारत को खिताबी मुकाबले तक पहुंचाया। भारतीय महिला टीम अब रविवार को फाइनल में थाईलैंड के सामने होगी। चोट के कारण लंबे समय बाद वापसी कर रहीं पीवी सिंधू हालांकि पहले एकल में अया ओहोरी के खिलाफ जीत दर्ज नहीं कर सकीं।
जापान की टीम अकाने यामागुची (दुनिया की चौथे नंबर की खिलाड़ी), युकी फुकुशिमा और सयाका हिरोटा (दुनिया की सातवें नंबर की जोड़ी) तथा मायु मातसुमोटो और वाकाना नागाहारा (दुनिया की आठवें नंबर की जोड़ी) के बिना खेल रही थी। इसके बावजूद मजबूत टीम थी और उसने भारत के सामने कड़ी चुनौती पेश की। तृषा और गायत्री ने पहले युगल में शानदार प्रदर्शन किया और नामी मातसुयामा और चिहारू शिडा की दुनिया की छठे नंबर की जोड़ी पर 73 मिनट में जीत से भारत को 1-1 की बराबरी पर ला दिया।
अस्मिता ने फिर पूर्व विश्व चैम्पियन नोजोमी ओकुहारा (20वीं रैंकिंग) के खिलाफ आक्रामक खेल दिखाया। उन्होंने अपने क्रास शॉट और स्मैश का बखूबी इस्तेमाल कर 21-17, 21-14 से उलटफेर भरी जीत से भारत को 2-1 से आगे कर दिया। तनीषा क्रास्टो को चोट लगी है, जिससे सिंधू ने अश्विनी पोनप्पा के साथ जोड़ी बनायी, लेकिन वे रेना मियायूरा और अयाको साकुरामोटो की दुनिया की 11वें नंबर की जोड़ी की बाधा पार नहीं कर सकी और 14-21, 11-21 से हार गयीं। अब दोनों टीमें 2-2 की बराबरी पर थीं। अनमोल को नातसुकी निडायरा को हराने की जिम्मेदारी सौंपी गयी और इस भारतीय ने भी उम्मीदों के अनुरूप जीत दर्ज कर भारत को पहली बार फाइनल में पहुंचाया।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
×