For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

उत्कृष्ट शोध के लिए पुस्तकालय, प्रयोगशाला और फील्ड से जुड़ें शोधार्थी: प्रो. राजबीर सिंह

06:42 AM May 11, 2024 IST
उत्कृष्ट शोध के लिए पुस्तकालय  प्रयोगशाला और फील्ड से जुड़ें शोधार्थी  प्रो  राजबीर सिंह
Advertisement

रोहतक, 10 मई (हप्र)
उत्कृष्ट शोध के लिए पुस्तकालय, प्रयोगशाला और फील्ड से जुड़ें शोधार्थी मौलिक और मूल्यवान शोध कार्य करें। यह उद्गार महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. राजबीर सिंह ने शुक्रवार शम फैकल्टी ऑफ लाइफ साइंसेज, फैकल्टी ऑफ इंटरडिसिप्लिनरी स्टडीज तथा चौ. रणबीर सिंह इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल एंड इकोनॉमिक चेंज के संयुक्त तत्वावधान में स्वराज सदन में- रिसर्च मैथोडोलॉजी विषय पर संचालित सात दिवसीय कार्यशाला के समापन सत्र में व्यक्त किए।
कुलपति प्रो. राजबीर सिंह ने शोधार्थियों को शोध के मूल उद्देश्य से रूबरू करवाते हुए कहा कि शोधार्थी ऐसा शोध कार्य करें, जिसका सामाजिक प्रभाव हों। उन्होंने शोधार्थियों को शोध को सामाजिक विकास से जोड़ने के लिए प्रेरित किया। कुलपति ने शोध में विषय चयन, शोध करने की विधि, तथ्य संकलन और निष्कर्ष को महत्त्वपूर्ण बताया। कुलपति ने शोधार्थियों को जिज्ञासु प्रवृत्ति विकसित करने के लिए प्रोत्साहित किया।
कुलपति प्रो. राजबीर सिंह ने इस कार्यशाला में शामिल प्रतिभागी शोधार्थियों को सर्टिफिकेट प्रदान किए और इस कार्यशाला के आयोजकों को इस शानदार आयोजन के लिए बधाई एवं शुभकामनाएं दी। डीन, फैकल्टी ऑफ लाइफ साइंसेज एवं कार्यशाला कंवीनर प्रो. राजेश धनखड़ ने प्रारंभ में स्वागत भाषण दिया। कार्यशाला कोआर्डिनेटर डा. नीलकमल ने कार्यशाला की रिपोर्ट प्रस्तुत की। चौ. रणबीर सिंह इंस्टीट्यूट की निदेशिका प्रो. सोनिया मलिक ने कहा कि संस्थान विवि में शोध संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए प्रयासरत है।
इससे पूर्व सुबह के दो सत्रों में वाइल्डलाइफ इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया, देहरादून के प्रो. वी.पी. उनियाल ने- इंवर्टेब्रेट्स एज इंडिकेटर्स फॉर मॉनिटरिंग इकोसिस्टम हेल्थ एंड क्लाइमेट चेंज तथा रोल ऑफ वाइल्डलाइफ फोरेंसिक इन कॉम्बेटिंग इलिगल वाइल्डलाइफ ट्रेड विषय पर विशेष व्याख्यान दिया। डा. सपना तथा डा. मुकेश तंवर ने इन सत्रों की अध्यक्षता की। दोपहर बाद के सत्र में जुंगा, हिमाचल प्रदेश के डा. विवेक सहजपाल ने- डीएनए प्रोफाइलिंग एंड इट्स एप्लीकेशन्स विषय पर विस्तार से अपनी बात रखी। डा. समुन्द्र कौशिक ने इस सत्र की अध्यक्षता की।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
×