For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

किसान संगठन 7 को करेंगे विरोध प्रदर्शन

07:58 AM Apr 03, 2024 IST
किसान संगठन 7 को करेंगे विरोध प्रदर्शन
किसान नेता जगजीत सिंह डल्लेवाल और सरवन सिंह पंधेर मंगलवार को चंडीगढ़ में प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए। -रवि कुमार
Advertisement

चंडीगढ़, 2 अप्रैल (एजेंसी)
दो किसान संगठनों ने मंगलवार को घोषणा की कि पंजाब में निजी गोदामों को गेहूं क्रय केंद्र घोषित किए जाने के फैसले के खिलाफ वे रविवार को विरोध-प्रदर्शन करेंगे। संयुक्त किसान मोर्चा (गैर राजनीतिक) और किसान मजदूर मोर्चा (केएमएम) ने कहा कि इस फैसले से अनाज मंडी बेकार हो जाएंगी और वे इसके विरोध में 7 अप्रैल को केंद्र और पंजाब सरकार के पुतले जलाएंगे।
इससे पहले संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने इसी मुद्दे पर 9 अप्रैल को विरोध-प्रदर्शन की घोषणा की थी। इस संगठन ने अब निरस्त कर दिए गए कृषि कानूनों के खिलाफ 2020-21 के किसान आंदोलन का नेतृत्व किया था। राज्य सरकार ने एक अप्रैल से शुरू हुए रबी क्रय सत्र के मद्देनजर 15 मार्च को 11 निजी गोदामों को गेहूं खरीद केंद्र घोषित किया था।
एसकेएम (गैर राजनीतिक) संगठन के नेता जगजीत सिंह डल्लेवाल ने मंगलवार को संवाददाताओं से बातचीत के दौरान पंजाब सरकार के इस फैसले की निंदा की। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार ने ‘केंद्र के इशारे पर काम किया है।’ उन्होंने दावा किया कि यह फैसला मंडियों को निष्प्रभावी बनाने के लिए लिया गया है। सरवन सिंह पंधेर ने किसानों से आग्रह किया कि वे अपनी फसलों को बेचने के लिए इन गोदामों में न ले जाएं। दोनों नेताओं ने पंजाब के रविंदर सिंह रवि, अमरजीत सिंह सहित पांच किसानों की रिहाई की भी मांग की। पंधेर ने कहा कि यदि किसानों की रिहाई और निजी गोदामों को गेहूं की खरीद करने की अनुमति देने के फैसले को 7 अप्रैल तक वापस नहीं लिया गया तो वे 9 अप्रैल को ‘रेल रोको’ आंदोलन करेंगे।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
×