For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

नायब कैबिनेट में आठ नये मंत्री शामिल

06:33 AM Mar 20, 2024 IST
नायब कैबिनेट में आठ नये मंत्री शामिल
चंडीगढ़ में मंगलवार को (ऊपर बाएं से) राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने कमल गुप्ता, सुभाष सुधा, सीमा त्रिखा, संजय सिंह, (नीचे बाएं से) महिपाल ढांडा, अभय सिंह यादव, बिशम्बर वाल्मीकि, असीम गोयल को मंत्री पद की शपथ दिलाई। - रवि कुमार
Advertisement

दिनेश भारद्वाज/ट्रिन्यू
चंडीगढ़, 19 मार्च
हरियाणा में नायब सरकार का पहला मंत्रिमंडल विस्तार मंगलवार को हुआ। कैबिनेट में आठ विधायकों को मंत्री बनाया गया। राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने राजभवन में नये मंत्रियों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। मुख्यमंत्री नायब सैनी के साथ ही इस मौके पर पूर्व सीएम मनोहर लाल भी मौजूद रहे। पिछली मनोहर सरकार में मंत्री रहे हिसार से विधायक डॉ. कमल गुप्ता की कैबिनेट में वापसी हुई है। उन्होंने संस्कृत में शपथ ग्रहण की। बाकी के सभी सात विधायक पहली बार मंत्री बने हैं। पूर्व गृह व स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज को कैबिनेट में जगह नहीं मिली है। अब मंत्रिमंडल में कोई भी पद खाली नहीं है। यानी विज के लिए संभावना खत्म हो गई।
ध्यान हो कि गत 12 मार्च को नायब सिंह सैनी मुख्यमंत्री बने थे। उसी दिन उनके साथ पांच विधायकों– कंवर पाल गुर्जर, मूलचंद शर्मा, जयप्रकाश दलाल, चौ. रणजीत सिंह, जेपी दलाल और डॉ. बनवारी लाल ने बतौर मंत्री शपथ ली थी। ये पांचों मनोहर कैबिनेट में भी थे। मनोहर कैबिनेट में शामिल रहे मंत्रियों– अनिल विज, ओमप्रकाश यादव, कमलेश ढांडा और संदीप सिंह का पत्ता कट गया है। भाजपा-जजपा गठबंधन टूटने की वजह से पूर्व डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला, पूर्व विकास एवं पंचायत मंत्री देवेंद्र सिंह बबली और राज्य मंत्री अनूप धानक वैसे ही सरकार से बाहर हो चुके हैं।
नायब कैबिनेट में अब छह कैबिनेट और सात स्वतंत्र प्रभार वाले राज्य मंत्री होंगे। बड़खल से लगातार दूसरी बार एमएलए सीमा त्रिखा को राज्य मंत्री (स्वतंत्र) प्रभार बनाया है। वे मनोहर पार्ट-। में मुख्य संसदीय सचिव थीं। पानीपत ग्रामीण से दूसरी बार विधायक महिपाल ढांडा भी राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) बने हैं। अंबाला सिटी विधायक असीम गोयल को राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) बनाया गया है। असीम भी अंबाला सिटी से दूसरी बार के विधायक हैं। उन्हें हरियाणा विधानसभा से सर्वश्रेष्ठ विधायक का अवार्ड भी मिल चुका है। आईएएस से वीआरएस लेकर 2014 में पहली बार विधायक बने डॉ. अभय सिंह यादव को भी राज्य मंत्री बनने का मौका मिला है। दूसरी बार के विधायक अभय यादव की कैबिनेट में एंट्री करवाने में पूर्व सीएम मनोहर लाल की सबसे बड़ी भूमिका मानी जाती है।
थानेसर से लगातार दूसरी बार विधायक सुभाष सुधा भी नायब सरकार में राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) बने हैं। इनेलो से राजनीति की शुरुआत करने वाले सुभाष सुधा लंबे समय तक कांग्रेस में भी सक्रिय रहे। इसके बाद वह भाजपा में शामिल हो गए। भिवानी जिला के बवानीखेड़ा हलके से दूसरी बार के विधायक बिशम्बर वाल्मीकि को स्वतंत्र प्रभार के साथ राज्य मंत्री बनाया है। सोहना से पहली बार विधायक बने संजय सिंह ने भी राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में शपथ ली।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
×