For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

खेड़ी चौपटा में पुलिस-किसानों के बीच संघर्ष, डीएसपी समेत 15 पुलिस कर्मी घायल

10:27 AM Feb 24, 2024 IST
खेड़ी चौपटा में पुलिस किसानों के बीच संघर्ष  डीएसपी समेत 15 पुलिस कर्मी घायल
खेड़ी चौपटा में शुक्रवार को किसान नेता सुरेश कौथ को हिरासत में लेकर जाती पुलिस।-निस
Advertisement

सज्जन सैनी/निस
नारनौंद, 23 फरवरी
शुक्रवार दोपहर को ट्रैक्टर-ट्रालियों के साथ खेड़ी चौपटा से खनौरी बॉर्डर के लिए रवाना हुए किसानों को पुलिस टीम ने रोक लिया और मार्च का नेतृत्व कर रहे किसान नेता सुरेश कौथ, कैलाश उमरां सहित करीब 19 किसान नेताओं को हिरासत में ले लिया।
किसानों ने विरोध किया तो पुलिस ने लाठी चार्ज किया और फिर किसानों की तरफ से पथराव किया गया। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने किसानों पर वाटर कैनन की बौछारेंें की और आंसू गैस के गोले भी दागे। करीब एक घंटे तक चले इस संघर्ष के दौरान नारनौंद डीएसपी, थाना प्रभारी सहित कुल 15 पुलिस कर्मचारी घायल हो गए वहीं काफी किसानों को भी चोटें आई है और पुलिस के दो वाहन व फायर ब्रिगेड की एक गाड़ी क्षतिग्रस्त हो गई। घटना के बाद गिरफ्तार किसान नेताओं की रिहाई की मांग को लेकर किसान खेड़ी चौपटा पर ही धरने पर बैठ गए।
मामले के अनुसार खेड़ी चौपटा पर पक्का मोर्चा लगाए बैठे किसानों ने शुक्रवार दोपहर को खनौरी बॉर्डर के लिए रवाना होने का ऐलान किया हुआ है। खनौरी बॉर्डर की तरफ रवाना होने के लिए किसानों ने किसान नेता सुरेश कौथ, विकास सीसर, रवि आजाद, कुलदीप खरड़, कैलाश उमरां, अमन, बलिंदर गढ़ी, सुंदर पनिहारी सहित कुल 115 किसानों की कमेटी बनवाई और कहा कि यह कमेटी शांतिपूर्व खनौरी बॉर्डर तक चलेगी और बाकी किसान इनके निर्देशों का पालन करते हुए पीछे-पीछे चलेंगे।
दोपहर 2 बजे किसानों ने जैसे ही खेड़ी चौपटा से मार्च करना शुरू किया तो हांसी डीएसपी रविंद्र सांगवान पुलिस बल के साथ मौके पर आ गए और किसानों को वहीं पर रुकने के लिए कहा लेकिन किसानों ने मना कर दिया। किसान नेताओं ने पुलिस को कहा कि अगर पुलिस को बातचीत करनी है तो कमेटी से बातचीत करें लेकिन पुलिस बल का इस्तेमाल न करें। इसके बाद जब किसान नहीं रुके तो पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया और किसान नेता सुरेश कौथ, कैलाश उमरां व पांच-सात अन्य को हिरासत में ले लिया। इससे किसान रोषित हो गए और पुलिस पर पथराव कर दिया। पुलिस की एक कार, एक बस व फायर ब्रिगेड के वाहन के शीशे भी तोड़ दिए। इस संघर्ष में डीएसपी व थाना प्रभारी सहित कुल 15 पुलिस कर्मी घायल हो गए जिनमें चार महिला पुलिस कर्मी भी हैं। किसान भी काफी संख्या में घायल हुए हैं। खेड़ी चौपटा की घटना की किसान सभा ने निंदा की। किसान सभा के प्रधान सूबे सिंह ने बताया कि इस बारे में शनिवार को बैठक बुलाई जाएगी और आगामी निर्णय लिया जाएगा।

ये पुलिस कर्मचारी हुए घायल

घायल हुए पुलिस कर्मचारियों में नारनौंद के डीएसपी राज सिंह लालका, नारनौंद एसएचओ चंद्रभान के अलावा इंस्पेक्टर चंद्रभान, एसआई सुरेश कुमार, एएसआई दीपक, हवलदार सुनील, जगदीप, बादल, सतबीर, कांस्टेबल पवन कुमार, उमेद सिंह, महिला सिपाही मीना, सोनिया, अंजलि, निर्मला, ईएचसी महेंद्र शामिल हैं।

Advertisement

डीसी ने की किसानों संग बैठक

हिसार (हप्र): जिला प्रवक्ता के माध्यम से उपायुक्त उत्तम सिंह ने बताया कि घटना के बाद किसानों के साथ सौहार्दपूर्ण माहौल में बात हुई और किसानों ने शांतिपूर्वक धरना देने का आश्वासन दिया है। गिरफ्तार किसान नेताओं की रिहाई के बारे में प्रवक्ता ने कहा कि इस बारे में क्या बात हुई है, उनको जानकारी नहीं है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
×