For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

सीएम बदलना मेरे लिए बम शेल गिरने जैसा था : विज

02:26 PM Mar 19, 2024 IST
सीएम बदलना मेरे लिए बम शेल गिरने जैसा था   विज
Advertisement
  • कहा-हरियाणा में हुए बदलाव के बारे में मुझे नहीं थी किसी तरह की जानकारी
  • मनोहर लाल की निगाहें कहीं होती हैं और निशान कहीं, मैं नाराज नहीं स्पष्टवादी हूं

दिनेश भारद्वाज 

ट्रिब्यून न्यूज सर्विस

Advertisement

चंडीगढ़, 19 मार्च

हरियाणा राजभवन में मंत्रिमंडल विस्तार की तैयारियां चल रही थी। सीएमओ (मुख्यमंत्री कार्यालय) के अधिकारी भी इसी कवायद में जुटे थे। सीएम नायब सिंह सैनी और पूर्व सीएम मनोहर लाल घरौंडा हलके (करनाल) में जनसभा के जरिये लोकसभा चुनाव के प्रचार का शंखनाद कर रहे थे। वहीं प्रदेश के पूर्व गृह व स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज मंगलवार को अचानक हरियाणा विधानसभा पहुंचे।

Advertisement

विज अंबाला कैंट से सीधे विधानसभा पहुंचे। 12 बजकर 34 मिनट पर वे विधानसभा पहुंचे और यहां मीडिया से बातचीत के बाद वे सीधे स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता के दफ्तर में गए। स्पीकर तब तक कार्यालय में नहीं आए थे। विज ने उन्हें फोन करके बताया और कुछ देर बाद ही स्पीकर भी पहुंच गए। प्रदेश सरकार में हुई उठापठक और बड़े बदलाव के बीच विज 12 मार्च से ही नाराज़ चल रहे हैं। ऐसे में उन्होंने कैबिनेट से भी दूरी बनाकर रखी।

मीडिया के सवालांे के जवाब में बड़ा खुलासा करते हुए विज ने कहा, प्रदेश नेतृत्व में हुए बदलाव के बारे में किसी तरह की पूर्व सूचना नहीं थी। विधायक दल की बैठक में जब यह फैसला सुनाया गया तो मेरे ऊपर बम शेल गिरने जैसा था। कम से कम मुझे इस बारे में कोई जानकारी नहीं थी। वहीं कैबिनेट में शामिल होने की इच्छा पर विज ने कहा – यह हाई-पोथेटिकल सवाल है।

सूत्रों का कहना है कि केंद्रीय नेतृत्व के भी कई नेताओं ने विज को मनाने की कोशिश की लेकिन वे राजी नहीं हुए। ऐसे में मंगलवार को हुए कैबिनेट विस्तार में भी विज शामिल नहीं हुए। हालांकि इससे पहले 12 मार्च को जब मनोहर लाल के इस्तीफे के बाद नायब सिंह सैनी प्रदेश के नये मुख्यमंत्री बने तो उस समय मंत्रियों की लिस्ट में अनिल विज का भी नाम था। लेकिन विज इससे पूर्व हुई विधायक दल की बैठक में विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद ही बैठक से बाहर निकल गए थे।

इस घटना के बाद विज दो बार स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता को फोन करके उन्हें विधानसभा की कमेटियों में सदस्यों के रूप में शामिल करने का आग्रह कर चुके हैं। स्पीकर ने उन्हें अभी तक किसी भी कमेटी में शामिल नहीं किया है। इसी वजह से वे मंगलवार को स्पीकर से मिलने विधानसभा पहुंचे। यहां मीडिया की मौजूदगी में दोनों नेताओं ने चाय पी और इसके बाद दोनों के बीच अलग से भी बातचीत हुई। माना जा रहा है कि अब विज को विधानसभा की कमेटियों में शामिल किया जाएगा।

स्पीकर के साथ मुलाकात से पहले मीडिया से बातचीत में विज ने कहा, कैबिनेट विस्तार के बारे में उन्हें कोई सूचना नहीं है। मुख्यमंत्री बदलने और सरकार में हुए बदलाव वे नाराज़गी से जुड़े सवाल पर विज ने कहा, मैं नाराज़ नहीं हूं। मैं भाजपा का अणन्य भगत हूं और अब पहले से भी ज्यादा पार्टी के लिए काम करूंगा। मैं नाराज़ नहीं होता। मैं स्पष्टवादी हूं। मंगलवार को सीएम नायब सिंह सैनी पंचकूला स्थित नड्‌डा साहिब गुरुद्वारा में मत्था टेकने के बाद बाई-रोड घरौंडा पहुंचे।

अंबाला में नायब सैनी का रोड-शो का भी कार्यक्रम था। वे इसमें पहुंचे। यह भी चर्चा थी कि वे अंबाला में पूर्व गृह मंत्री अनिल विज से मुलाकात करने उनके घर भी जा सकते हैं, लेकिन मुख्यमंत्री सीधे घरौंडा पहुंचे। विज ने इस सवाल पर कहा, मेरी मुख्यमंत्री से कोई बात नहीं हुई। मैं तो घर पर ही था। अगर वे आते तो उन्हें चाय पिलाता। माना जा रहा है कि केंद्रीय नेतृत्व की कोशिशें भी जब सिरे नहीं चढ़ी तो सरकार ने विज के बिना ही कैबिनेट विस्तार किया।

 कहीं पर निगाहें, कहीं पर होता है निशाना

पूर्व सीएम मनोहर लाल ने बयान दिया था कि अनिल विज जल्द नाराज हो जाते हैं और फिर मान भी जाते हैं। उन्होंने अनिल विज को वरिष्ठ नेता भी बताया था। इस सवाल पर विज ने कहा, मैं उनका धन्यवाद करता हूं अगर वे ऐसा मानते हैं। वैसे मैं हूं भी वरिष्ठ नेता। प्रदेश सरकार में मेरे से सीनियर कोई नहीं है। इस दौरान पूर्व सीएम पर कटाक्ष करते हुए विज ने कहा, मनोहर लाल की आंखें कहीं होती हैं और निशाना कहीं ओर होता है।

हर मंगल-बुध आया करूंगा चंडीगढ़

विज ने कहा, स्पीकर से आग्रह किया है कि वे मुझे विधानसभा की कमेटियों में शामिल करें। इसके बाद मैं हर मंगलवार व बुधवार को कमेटियों की बैठक में शामिल होने चंडीगढ़ आया करूंगा। साथ ही कहा, विधानसभा की कमेटियों में शामिल होने के बाद ही आने-जाने का रास्ता मिलेगा। मीटिंग में आने पर टीए-डीए मिलेगा। नहीं तो मेरी तो मूवमेंट ही बंद हो जाएगी।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
×