For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

भाजपा ने रोहतक से अरविंद शर्मा, सोनीपत से बड़ौली को उतारा मैदान में

07:55 AM Mar 25, 2024 IST
भाजपा ने रोहतक से अरविंद शर्मा  सोनीपत से बड़ौली को उतारा मैदान में
अरविंद शर्मा
Advertisement

दिनेश भारद्वाज/ट्रिन्यू
चंडीगढ़, 24 मार्च
होली से ठीक पहले भाजपा ने हरियाणा में चुनावी ‘रंग’ खेल दिया है। पिछले पंद्रह दिनों से सियासत में चल रही उठापठक के बीच रविवार को दो बड़े घटनाक्रम हुए। रानियां से निर्दलीय विधायक और हरियाणा सरकार में बिजली व जेल मंत्री चौ. रणजीत सिंह ने सिरसा में भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली। वहीं कुरुक्षेत्र से लगातार दो बार कांग्रेस सांसद रहे नवीन जिंदल ने कांग्रेस का ‘हाथ’ छोड़कर भाजपा में शामिल होने का ऐलान कर दिया।


भाजपा ने प्रदेश में लोकसभा की बाकी चार सीटों पर भी अपने प्रत्याशी तय कर दिए हैं। करनाल में पूर्व सीएम मनोहर लाल, अंबाला से पूर्व सांसद रतनलाल कटारिया की पत्नी बंतो कटारिया, सिरसा से पूर्व सांसद डॉ. अशोक तंवर, गुरुग्राम से केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह, फरीदाबाद से केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर और भिवानी-महेंद्रगढ़ से मौजूदा सांसद धर्मबीर सिंह को पहले ही भाजपा अपना प्रत्याशी घोषित कर चुकी है। चार सीटों– रोहतक, सोनीपत, हिसार और कुरुक्षेत्र में अभी तक पेच फंसा
हुआ था।
सूत्रों का कहना है कि प्रदेश यूनिट की सिफारिशों के अलावा भाजपा हाईकमान ने अपने स्तर पर चारों ससंदीय सीटों को लेकर सर्वे करवाया। प्राेफेशनल कंपनियों के अलावा एजेंसियों से इनपुट लिया गया। इसके बाद पार्टी ने बाकी के चार संसदीय क्षेत्रों में से तीन पर नये चेहरों पर दाव लगाने का निर्णय लिया। रोहतक के मौजूदा सांसद डॉ. अरविंद शर्मा को फिर से चुनावी रण में उतारा गया है। अरविंद शर्मा, सोनीपत से निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर भी लोकसभा चुनाव जीत चुके हैं। करनाल से भी वे सांसद रहे हैं। 2019 में अरविंद ने कांग्रेस के हैवीवेट उम्मीदवार दीपेंद्र हुड्‌डा को चुनावों में पटकनी दी थी। हालांकि कांग्रेस ने अभी रोहतक सहित प्रदेश की दस लोकसभा सीटों में से किसी पर भी अपने उम्मीदवार तय नहीं किए हैं। हिसार से 2019 में भाजपा सांसद रहे बृजेंद्र सिंह कांंग्रेस में शामिल हो चुके हैं। यहां से पूर्व वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु टिकट के लिए लॉबिंग कर रहे थे। प्रदेश सरकार में बिजली व जेल मंत्री चौ. रणजीत सिंह टिकट की दौड़ में कैप्टन अभिमन्यु को पछाड़ने में कामयाब रहे। रणजीत सिंह का टिकट कांग्रेस ने 2019 में रानियां से काट दिया। ऐसे में वे निर्दलीय चुनाव लड़े और जीतने में कामयाब रहे। मनोहर सरकार ने उन्हें कैबिनेट मंत्री बनाया। अब नायब सरकार में भी वह जेल व बिजली मंत्री हैं। उनके टिकट को लेकर पार्टी हाईकमान कई दिनोें से मंथन कर रहा था। फैसला होने के बाद रणजीत सिंह को मैसेज किया गया। उन्होंने रविवार को सिरसा स्थित भाजपा कार्यालय में यहां से प्रत्याशी डॉ. अशोक तंवर व पूर्व सीएम मनोहर लाल के राजनीतिक सलाहकार रहे जगदीश चोपड़ा की मौजूदगी में भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली।
रणजीत सिंह को भाजपा ने हिसार से अपना उम्मीदवार तय किया है। हरियाणा की राजनीति में वैश्य परिवार के रूप में बड़ा चेहरा जिंदल परिवार ने भी अब भाजपा का दामन थाम लिया है। कुरुक्षेत्र से दो बार सांसद रहे नवीन जिंदल ने रविवार को नई दिल्ली में वरिष्ठ भाजपा नेता विनोद तावड़े की मौजूदगी में भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। पार्टी ने उन्हें कुरुक्षेत्र से चुनावी रण में उतारने का फैसला लिया है।
नवीन के पिता स्व. ओमप्रकाश जिंदल हरियााणा की राजनीति का बड़ा चेहरा रहे हैं। वे हरियाणा सरकार में कैबिनेट मंत्री भी रहे हैं। सोनीपत से लगातार दो बार भाजपा सांसद रहे रमेश चंद्र कौशिक का भाजपा ने टिकट काट दिया है। यहां से इस बार भाजपा ने नये चेहरे पर दाव लगाया है। राई से भाजपा विधायक और भाजपा के प्रदेश महामंत्री मोहनलाल बड़ौली को भाजपा ने सोनीपत से चुनाव लड़वाने का निर्णय लिया है। सूत्रों का कहना है कि इन चारों ही प्रत्याशियों के चयन में पूर्व सीएम और करनाल से भाजपा प्रत्याशी मनोहर लाल की अहम भूमिका रही है। पूर्व सीएम की रिपोर्ट को केंद्रीय नेतृत्व ने काफी गंभीरता से लिया है।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement
×