For the best experience, open
https://m.dainiktribuneonline.com
on your mobile browser.

पंजीकरण के बाद श्रद्धालुओं को फ्री करवायी जाएगी यात्रा : मनोहर लाल

06:43 AM Mar 07, 2024 IST
पंजीकरण के बाद श्रद्धालुओं को फ्री करवायी जाएगी यात्रा   मनोहर लाल
करनाल में बुधवार को मुख्यमंत्री तीर्थ योजना के तहत अयोध्या जाने वाली बस को हरी झंडी दिखाते सीएम मनोहर लाल। -ट्रिब्यून फोटो
Advertisement

करनाल, 6 मार्च (हप्र)
मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि श्रद्धालुओं को अयोध्या दर्शन, श्री हरमिंद्र साहिब गुरुद्वारा, श्री पटना साहिब गुरुद्वारा, काशी-विश्वनाथ के दर्शन करवाने के लिए हरियाणा सरकार ने मुख्यमंत्री तीर्थयात्रा योजना के अंतर्गत एक पोर्टल की शुरुआत की है। इस पोर्टल पर पंजीकृत श्रद्धालुओं को सरकार की ओर से नि:शुल्क यात्रा करवाई जाएगी। पोर्टल पर अब तक करीब 700 श्रद्धालु अपना पंजीकरण करवा चुके हैं।
मुख्यमंत्री बुधवार को करनाल में मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के तहत प्रभु श्रीराम लला के दर्शन के लिए करनाल से अयोध्या जाने वाली तीर्थ यात्रियों की बस को हरी झंडी दिखाकर रवाना करने के उपरांत मीडिया से बातचीत कर रहे थे। सीएम ने कहा कि पोर्टल पर पंजीकृत यात्रियों को अयोध्या दर्शन, श्री हरमिंद्र साहिब गुरुद्वारा, श्री पटना साहिब गुरुद्वारा, काशी-विश्वनाथ मन्दिरों का दर्शन करवाया जाना शामिल है। इसके अलावा अन्य तीर्थ स्थानों के लिए भी धीरे-धीरे पोर्टल खोलेंगे ताकि और तीर्थयात्री जो देश में अन्य तीर्थस्थानों पर जाने के इच्छुक हैं, वे अपना रजिस्ट्रेशन कर सकें। इस मौके पर सांसद संजय भाटिया, घरौंडा के विधायक हरविंद्र कल्याण, इंद्री के विधायक राम कुमार कश्यप, सूचना, जनसंपर्क, भाषा एवं संस्कृति विभाग के महानिदेशक मंदीप सिंह बराड़, उपायुक्त अनीश यादव सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।

पहली बस में 52 यात्री अयोध्या रवाना

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रभु श्रीराम जी के जन्म स्थान अयोध्या में मन्दिर बनाने को लेकर 500 साल पुराना संघर्ष था, लेकिन अंत्तोगत्वा 22 जनवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्री राम लला के मन्दिर की प्राण प्रतिष्ठा करके देश के गौरव को बढ़ाया है। लोगों की इच्छा थी कि वे अयोध्या जाकर राम मन्दिर के दर्शन करें, इसलिए हरियाणा सरकार ने योजनाबद्ध तरीके से मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना की घोषणा की, जिसका श्रीगणेश करनाल की पावन धरा से किया गया है। पहली बस में करीब 52 तीर्थयात्रियों को अयोध्या के लिए रवाना किया गया।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement
×